Skip to main content

विदेश न्यूज़

Latest News

टिकरी बॉर्डर पर बिछाई गई नुकीली कीलें, राहुल गांधी ने सरकार पर बोला हमला

NewsByte

नई दिल्ली: केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पे चल रहे आंदोलन को किसान संगठन ने और तेज करने की तैयारी कर दी हैं. प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन स्थलों को किले में तब्दील कर दिया. 

जवानों की तैनाती बढ़ाने के साथ-साथ बेरिकेड की संख्या भी बढ़ा दी गई है. प्रदर्शन स्थलों और उसके आसपास के इलाकों में इंटरनेट बैन कर दिया गया है.  लोगों को पैदल चलने से रोकने के लिए कंटीले तार लगाए गए हैं. 

इस बीच, किसान यूनियनों ने 6 फरवरी को ‘चक्का जाम' करने की घोषणा की है.  आंदोलन स्थलों के निकट क्षेत्रों में इंटरनेट प्रतिबंध, अधिकारियों द्वारा कथित उत्पीड़न और अन्य मुद्दों के खिलाफ तीन घंटे तक राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों को अवरुद्ध कर अन्नदाता अपना विरोध दर्ज करायेंगे.

वही कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में पुलिस द्वारा किए गए कड़े सुरक्षा इंतजामों की तस्वीर साझा करते हुए लिखा, "भारत सरकार, पुलों का निर्माण करे, दीवारों का नहीं!"

https://twitter.com/RahulGandhi/status/1356455739510820865?s=19

Powered by Froala Editor

Read more

West Bengal Election: मिदनापुर में ममता बनर्जी पर बरसे अमित शाह - "ममता बनर्जी अकेली पड़ जाएंगी"

News Byte

कोलकाता: तृणमूल कांग्रेस के दिग्गज नेता सुवेंदु अधिकारी शनिवार को गृह मंत्री अमित शाह की मिदनापुर में हुई मेगा रैली के दौरान BJP में शामिल हुए. शाह ने सुवेंदु अधिकारी का बीजेपी में स्वागत किया. शाह ने टीएमसी प्रमुख और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर सीधा हमला बोला. उन्होंने कहा, "क्यों इतने सारे लोग तृणमूल कांग्रेस छोड़ रहे हैं. इसके पीछे ममता का कुशासन, भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद है. दीदी यह तो सिर्फ आगाज है, चुनाव आने तक आप अलग-थलग पड़ जाएंगी."

पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में जनसभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर जमकर निशाना साधा. अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी कहती हैं कि बीजेपी दूसरी पार्टियों से लोगों को लेती है. मैं ममता बनर्जी को उन दिनों की याद दिलाना चाहता हूं, जब वो कांग्रेस में थीं, उन्होंने जब कांग्रेस छोड़कर तृणमूल कांग्रेस बनाई तो वो दलबदल नहीं था क्या.

अमित शाह ने कहा कि आज सभी दलों से अच्छे लोग बीजेपी में आ गए हैं. आज 1 एमपी, 9 एमएलए समेत कई नेता बीजेपी में शामिल हुए हैं. अमित शाह ने कहा कि अभी तो शुरुआत हुई है, चुनाव आते-आते तो ममता दीदी आप अकेली रह जाएंगी.

अमित शाह ने कहा कि शुभेंदु अधिकारी के नेतृत्व में कांग्रेस, तृणमूल, सीपीएम सभी पार्टी से अच्छे लोग आज बीजेपी में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में काम करने के लिए बीजेपी से जुड़े हैं. अमित शाह ने कहा कि दीदी कहती हैं कि बीजेपी दलबदल कराती है. दीदी मैं आपको याद कराने आया हूं, जब आपने कांग्रेस छोड़कर तृणमूल बनाई तो वो दलबदल नहीं था?

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि बीजेपी में जो लोग आज आ रहे हैं वो मां माटी मानुष के नारे के साथ निकले थे. लेकिन ममता दीदी की सरकार ने मां माटी मानुष के नारे को तोलाबाजी, तुष्टीकरण और भतीजावाद में परिवर्तित कर दिया. अमित शाह ने कहा कि 300 से अधिक बीजेपी कार्यकर्ताओं ने बंगाल में अपनी जान गंवाई है. हम  झुकेंगे नहीं. जितना अधिक टीएमसी हम पर हमला करेगा, उतनी ही आक्रामक तरीके से हम जीत की ओर बढ़ेंगे.

Read more

ममता सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे बीजेपी नेता, कहा- हम पर झूठे मुकदमे दर्ज किए जा रहे

News Byte

बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है जिसमें उन्होंने अपील की है कि उनके खिलाफ पश्चिम बंगाल में दर्ज आपराधिक मुकदमों को रद्द किया जाए.

बीजेपी नेताओं का आरोप है कि ममता बनर्जी उन्हें झूठे मुकदमों में फंसा रही हैं

ममता सरकार पर फर्जी मुकदमे दर्ज करने का आरोप मुकुल रॉय, कैलाश विजयवर्गीय सुप्रीम कोर्ट पहुंचेबंगाल के बाहर केस ट्रांसफर करने की अपील

जैसे-जैसे बंगाल में विधानसभा चुनाव नजदीक आते चले जा रहे हैं वैसे-वैसे राज्य में बंगाल की राजनीति भी गंभीर आरोप-प्रत्यारोपण से गुजर रही है. बीते दिनों ममता सरकार ने बीजेपी नेताओं पर आपराधिक मुकदमे दर्ज किए तो अब बीजेपी नेता भी ममता सरकार के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंच चुके हैं.

बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय, बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह, सौरव सिंह, पवन कुमार सिंह और कबीर शंकर बोस ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की है जिसमें उन्होंने अपील की है कि उनके खिलाफ पश्चिम बंगाल में दर्ज आपराधिक मुकदमों को रद्द किया जाए.

याचिका में ये भी मांग की गई है कि सुप्रीम कोर्ट राज्य सरकार को आदेश दे कि उनके खिलाफ दर्ज आपराधिक मामलों में कोई कार्रवाई न की जाए. इसके अलावा बीजेपी नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट से ये भी अपील की है कि अगर कोर्ट उन पर दर्ज आपराधिक मामलों को रद्द नहीं करती है तो इन मामलों को बंगाल से बाहर ट्रांसफर कर दे.

याचिका में बीजेपी नेताओं ने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया है कि राजनीतिक विद्वेष के चलते ममता बनर्जी सरकार ने उनके खिलाफ मुकदमे दर्ज किये हैं. इसलिए सुप्रीम कोर्ट इन मुकदमों को रद्द कर दे.

Read more

कोरोना दुनिया में:स्विट्जरलैंड ने 1000 से ज्यादा लोगों के जुटने पर 1 अक्टूबर तक प्रतिबंध बढ़ाया, रूस में बने वैक्सीन का पहला बैच दो हफ्ते में तैयार होगा; दुनिया में 2.06 करोड़ मरीज

News Byte

स्विट्जरलैंड ने 1000 से ज्यादा लोगों के जुटने पर 1 अक्टूबर तक प्रतिबंध बढ़ाया, रूस में बने वैक्सीन का पहला बैच दो हफ्ते में तैयार होगा; दुनिया में 2.06 करोड़ मरीज|

यह रूस द्वारा बनाए गए कोरोना वैक्सीन का सैम्पल है। इसे गैमालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा बनाया गया है।

दुनिया में अब तक 7.48 लाख मौतें हुईं, 1.35 करोड़ लोग ठीक हुए
अमेरिका में अब तक 53 लाख संक्रमित, जबकि 1.68 लाख मौतें हुईं

दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 2 करोड़ 6 लाख 49 हजार 711 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 35 लाख 47 हजार 161 मरीज ठीक हो चुके हैं। 7 लाख 48 हजार 658 की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े

स्विट्जरलैंड ने 1000 से ज्यादा लोगों के जुटने पर प्रतिबंध 1 अक्टूबर तक बढ़ा दिया है। देश में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। यह प्रतिबंध 31 अगस्त को खत्म होने वाला था। देश में 27 अप्रैल के बाद प्रतिबंधों में राहत देनी शुरू की गई थी। 85 लाख आबादी वाले देश में 37,079 लोग संक्रमित हैं, जबकि 1713 की मौत हो चुकी है।

रूस ने बुधवार को कहा कि कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक वी का पहला बैच दो हफ्ते में तैयार कर लिया जाएगा। उधर, अमेरिकी हेल्थ एक्सपर्ट डॉ. एंथनी फौसी ने कहा कि उन्हें संदेह है कि वैक्सीन कोरोना मरीजों पर काम करेगी। उन्होंने कहा कि वैक्सीन बनाना और इसे सुरक्षित साबित करना अलग बात है। हालांकि, रूस ने सुरक्षा को लेकर सभी चिंताओं को खारिज कर दिया है

दुनिया में संक्रमण की डरावनी रफ्तार

एयर इंडिया ने यूरोप के पांच शहरों में उड़ानों पर रोक लगा दी है। महामारी के चलते आर्थिक नुकसान होने के चलते अब मेड्रिड, मिलान, कोपेनहेगन, वियना और स्टॉकहोम के लिए उड़ानों का संचालन नहीं किया जाएगा।

जर्मनी में तीन महीने में पहली बार संक्रमण के एक दिन में 1200 केस मिले हैं। यहां 2.19 लाख मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि 9268 लोगों की मौत हो चुकी है।

चीन: 36 यूरोपीय देश के लोगों को आने की इजाजत

6 महीने बाद 36 यूरोपीय देशों के लोगों को चीन आने की इजाजत दे दी गई है। इनमें फ्रांस, जर्मनी और ब्रिटेन जैसे देश शामिल हैं। महामारी फैलने के बाद मार्च में चीन ने करीब सभी दूसरे देशों से लोगों के चीन आने पर रोक लगा दी थी। दूसरे देशों में रहने वाले चीन के नागरिक भी अपने देश नहीं लौट सकते थे। चीन के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को इसकी जानकारी दी। यूरोपीय पासपोर्ट रखने वाले सभी लोगों को चीन का नया वीजा लेना होगा। हालांकि इसके लिए उनसे कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।

चीन की राजधानी बीजिंग में बुधवार को अमेरिकी फास्ट फूड आउटलेट खुलने के बाद ऑर्डर प्लेस करते मास्क लगाए कस्टमर। महामारी के बाद पहली बार इस आउटलेट को खोलने की मंजूरी दी गई है।

चीन की राजधानी बीजिंग में बुधवार को अमेरिकी फास्ट फूड आउटलेट खुलने के बाद ऑर्डर प्लेस करते मास्क लगाए कस्टमर। महामारी के बाद पहली बार इस आउटलेट को खोलने की मंजूरी दी गई है।

अमेरिका: वैक्सीन खरीदने के 11 हजार करोड़ रु. का सौदा तय

अमेरिकी सरकार ने वैक्सीन तैयार करने वाली कंपनी मॉडर्ना से 10 करोड़ वैक्सीन खरीदने का करार किया है। यह सौदा 1.5 बिलियन डॉलर (करीब 11 हजार करोड़ रु.) में तय हुआ है। मॉडर्ना के दो डोज वाली एक वैक्सीन की कीमत 30.50 डॉलर (करीब 2300 रुपए होगी)। माॅडर्ना वैक्सीन का ह्यूमन ट्रायल करने वाली दुनिया की सबसे पहली कंपनी है।

अमेरिका के फ्लोरिडा स्थित एक टेस्टिंग सेंटर पर मंगलवार को जांच के बाद एक कार सवार को जाने का इशारा करती एक स्वास्थ्यकर्मी।

अमेरिका के फ्लोरिडा स्थित एक टेस्टिंग सेंटर पर मंगलवार को जांच के बाद एक कार सवार को जाने का इशारा करती एक स्वास्थ्यकर्मी।

अर्जेंटीना: संक्रमण का आंकड़ा 5 हजार के पार

अर्जेंटीना के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, मंगलवार को वहां कोरोना से 240 लोगों की जान गई। इनमें सबसे ज्यादा 207 मौतें राजधानी ब्यूनस आयर्स में हुई हैं। इसके साथ ही देश में मौतों का आंकड़ा 5 हजार के पार हो गया है। बीते 24 घंटे में यहां 7 हजार से ज्यादा संक्रमित भी मिले हैं। अब देश में संक्रमितों की संख्या 2 लाख 60 हजार 911 हो गई है।

रूस: संक्रमितों का आंकड़ा 9 लाख के करीब

रूस में संक्रमितों की संख्या 9 लाख के करीब पहुंच चुकी है। यहां पर अब तक 15 हजार से ज्यादा मौतें हुईं हैं। राजधानी मॉस्को सबसे ज्यादा प्रभावित है। मॉस्को में मंगलवार को 12 लोगों की जान गई। इसके साथ ही इस शहर में अब तक मरने वालों का आंकड़ा 4611 हो गया है। रूस ने मंगलवार को कोरोना वैक्सीन तैयार करने और इसे रजिस्टर कराने का ऐलान किया। इस वैक्सीन का नाम स्पूतनिक-वी रखा गया है।

रूस की राजधानी मॉस्को में मंगलवार को एक टेस्टिंग सेंटर पर एक व्यक्ति से पूछताछ करती महिला पुलिस.

रूस की राजधानी मॉस्को में मंगलवार को एक टेस्टिंग सेंटर पर एक व्यक्ति से पूछताछ करती महिला पुलिसकर्मी।

न्यूजीलैंड: संसद भंग करने का समय बढ़ाया

न्यूजीलैंड ने महामारी को देखते हुए संसद भंग करने का समय कुछ दिन आगे बढ़ाने का फैसला किया है। प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने बुधवार को इसका ऐलान किया। देश में 19 सितंबर को संसदीय चुनाव होना है। यहां पर चुनाव से पहले संसद भंग की जाती है, जिसके लिए 12 अगस्त का समय तय किया गया था। हालांकि, प्रधानमंत्री ने कहा कि चुनाव की तारीख आगे बढ़ाने के बारे में फिलहाल कोई फैसला नहीं किया गया है। मंगलवार को यहां 102 दिन बाद संक्रमण का नया मामला सामने आने के बाद ऑकलैंड को लॉकडाउन कर दिया गया था।

न्यूजीलैंड के ऑकलैंड स्थित एक टेस्टिंग सेंटर पर मंगलवार को पहुंची एक महिला के बारे में जानकारी नोट करते स्वास्थ्यकर्मी।

न्यूजीलैंड के ऑकलैंड स्थित एक टेस्टिंग सेंटर पर मंगलवार को पहुंची एक महिला के बारे में जानकारी नोट करते स्वास्थ्यकर्मी।

कोलंबिया: देश में 4 लाख से ज्यादा संक्रमित

कोलंबिया में मंगलवार को 12 हजार 830 नए मामले सामने आए। यहां एक दिन में यह संक्रमितों का सबसे बड़ा आंकड़ा है। देश में 4 लाख 10 हजार 453 केस आ चुके हैं। बीते 24 घंटे में हुई 321 मौतें के साथ यहां मृतकों का आंकड़ा 13 हजार 475 हो गया है। राजधानी बोगोटा महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित है। बोगोटा में अब तक 1 लाख 41 हजार 994 मामले सामने आए हैं।

कोलंबिया की राजधानी बोगोटा के एक अस्पताल में मंगलवार को एक संक्रमित का इलाज करते स्वास्थ्यकर्मी.

कोलंबिया की राजधानी बोगोटा के एक अस्पताल में मंगलवार को एक संक्रमित का इलाज करते स्वास्थ्यकर्मी।

जर्मनी: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- रूस की वैक्सीन पर भरोसा नहीं

जर्मनी के स्वास्थ्य मंत्री जेन्स स्पान्ह ने बुधवार को कहा कि मुझे रूस की ओर से तैयार किए गए वैक्सीन पर भरोसा नहीं है। उन्होंने एक रेडियो चैनल को दिए गए इंटरव्यू में कहा कि महामारी के इस समय में यह जरूरी है कि वैक्सीन का सही ढंग से टेस्ट किया जाए। खास तौर पर इससे जुड़े टेस्ट सार्वजनिक किए जाएं। हालांकि, रूस के अधिकारियों ने इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं दी है।

Read more

NCB ने करन जौहर को समन भेजा; उनके घर हुई पार्टी के वायरल वीडियो पर जवाब मांगा.

News Byte
28 जुलाई 2019 को करन जौहर ने हाउस पार्टी होस्ट की थी। इसमें दीपिका, मलाइका, रणबीर समेत कई बॉलीवुड सेलेब्स पहुंचे थे।

बॉलीवुड ड्रग्स मामले की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) ने फिल्म निर्माता करन जौहर को समन भेजा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, करन से उनके घर हुई पार्टी के वायरल वीडियो पर जवाब मांगा गया है। हालांकि, अभी यह साफ नहीं हुआ है कि उन्हें कब NCB ऑफिस में पूछताछ के लिए हाजिर होना है।

घर पर हुई पार्टी में मिली है क्लीन चिट

कुछ दिनों पहले करन जौहर के घर हुई पार्टी के वायरल वीडियो की दूसरी फॉरेंसिक रिपोर्ट भी नेगेटिव आई थी। वायरल वीडियो के आधार पर कहा जा रहा था कि करन के घर ड्रग्स पार्टी हुई थी। हालांकि, गुजरात के गांधी नगर की FSL ने वीडियो में नजर आ रही सफेद रंग की इमेज को रिफ्लेक्शन ऑफ लाइट (रोशनी के कारण बनी छवि) बताया था। वीडियो में किसी भी तरह के स्टफ की मौजूदगी से इनकार किया गया। FSL ने क्लीन चिट देते हुए रिपोर्ट में लिखा था कि वीडियो में ड्रग्स जैसा कोई भी पदार्थ या अन्य मटेरियल नहीं दिख रहा।

वीडियो की पहली फॉरेंसिक रिपोर्ट सितंबर के अंतिम सप्ताह में NCB को मिली थी। इस रिपोर्ट में वीडियो को वास्तविक बताया गया था। साथ ही इसमें किसी तरह की एडिटिंग से इनकार किया गया था।

2019 में करन के घर हुई थी पार्टी 28 जुलाई 2019 को करन जौहर ने हाउस पार्टी होस्ट की थी। इसमें दीपिका पादुकोण, मलाइका अरोड़ा, अर्जुन कपूर, शाहिद कपूर, वरुण धवन, जोया अख्तर, विकी कौशल, अयान मुखर्जी और रणबीर कपूर के साथ अन्य लोग मौजूद थे। पार्टी का वीडियो खुद करन जौहर ने शूट कर सोशल मीडिया पर डाला था। वीडियो वायरल होने के बाद इस पार्टी में ड्रग्स के इस्तेमाल के आरोप लगे थे।

विधायक सिरसा ने की थी शिकायत शिरोमणि अकाली दल के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने पिछले साल मुंबई पुलिस कमिश्नर को एक पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि करन जौहर की पार्टी में ड्रग्स का इस्तेमाल हुआ था। उन्होंने करन और पार्टी में मौजूद अन्य लोगों के खिलाफ नारकोटिक्स ड्रग्स और साइकोट्रोपिक पदार्थ अधिनियम 1985 के तहत मामला दर्ज करने की मांग की थी।

इसी साल जब सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में ड्रग्स का मामला उछला तो सिरसा ने एनसीबी प्रमुख राकेश अस्थाना से मिलकर उनसे करन जौहर और अन्य कलाकारों के खिलाफ ड्रग पार्टी करने के मामले में शिकायत की थी। इसके बाद एनसीबी ने वीडियो को जांच के दायरे में लिया और इसकी फॉरेंसिक जांच कराई।

Read more

पीएम मोदी ने की किसानों से अपील, कृषि मंत्री तोमर ने किसानों को लिखी 8 पेज की चिट्ठी

News Byte

नई दिल्ली: देश में कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 22 दिनों से दिल्ली के अलग अलग बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों के लिए केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने खुला पत्र लिखा है. आठ पन्नों के इस पत्र ने आज प्रदर्शनकारी किसानों के लिए भाजपा के बड़ी पहुंच के कार्यक्रम की शुरुआत की. पत्र एक पार्टी बैठक के बाद जारी किया गया था जिसमें उसके प्रमुख नेता केंद्रीय मंत्री अमित शाह, उनके कैबिनेट सहयोगियों पीयूष गोयल, निर्मला सीतारमण, नरेंद्र तोमर और पार्टी प्रमुख जेपी नड्डा ने भाग लिया था.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, "कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जी ने किसान भाई-बहनों को पत्र लिखकर अपनी भावनाएं प्रकट की हैं, एक विनम्र संवाद करने का प्रयास किया है. सभी अन्नदाताओं से मेरा आग्रह है कि वे इसे जरूर पढ़ें. देशवासियों से भी आग्रह है कि वे इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाएं."

कृषि कानूनों को 'ऐतिहासिक' करार देते हुए तोमर ने कहा कि इन सुधारों को लेकर उनकी अनेक राज्यों के किसान संगठनों से बातचीत हुई है और कई किसान संगठनों ने इनका स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि वह इससे बहुत खुश हैं और किसानों में एक नई उम्मीद जगी है. उन्होंने ने कहा, ''देश के अलग-अलग क्षेत्रों से ऐसे किसानों के उदाहरण भी लगातार मिल रहे हैं, जिन्होंने नए कानूनों का लाभ उठाना शुरू भी कर दिया है.''

उन्होंने कहा कि इन कृषि सुधार कानूनों का दूसरा पक्ष ये है कि किसान संगठनों में एक भ्रम पैदा कर दिया गया है. उन्होंने कहा, ''देश का कृषि मंत्री होने के नाते मेरा कर्तव्य है कि हर किसान का भ्रम दूर करूं. मेरा दायित्व है कि सरकार और किसानों के बीच दिल्ली और आसपास के क्षेत्र में जो झूठ की दीवार बनाने की साजिश रची जा रही है उसकी सच्चाई और सही वस्तु स्थिति आपके सामने रखूं.''

कृषि मंत्री के 8 आश्वासन:
  1. किसानों की जमीन को खतरा नहीं, मालिकाना हक उन्हीं का रहेगा.
  2. किसानों को तय समय पर भुगतान किया जाएगा
  3. तय समय पर भुगतान नहीं करने पर जुर्माना लगेगा 
  4. खुले बाजार में अच्छे दाम पर फसल बेचने का विकल्प
  5. MSP जारी है और जारी रहेगी
  6. मंडियां चालू हैं और चालू रहेंगी
  7. करार फसलों के लिए होगा, जमीन के लिए नहीं, किसान जब चाहें करार खत्म कर सकते हैं
  8. APMC मंडियां कानून के दायरे से बाहर हैं
Read more