Skip to main content

Latest News

रिलायंस फाउंडेशन ने मुंबई में तेज किया कोविड सहायता अभियान, मुफ्त में 775 बेड्स वाली चलायेगा चिकित्सा सुविधा

News Byte

कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में रिलायंस फाउंडेशन ने अपनी मदद और तेज कर दी है. रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की शाखा रिलायंस फाउंडेशन ने एक बयान में सोमवार को कहा कि उसने कोविड-19 महामारी के मद्देनजर बढ़ती मेडिकल जरूरतों को देखते हुए मुंबई में अपने अभियान को तेज किया है. रिलायंस फाउंडेशन के अस्पतालों- भारतीय राष्ट्रीय खेल क्लब (एनएससीआई), सेवन हिल्स अस्पताल और ट्राईडेंट, BKC में करीब 775 बेड्स का इंतजाम किया गया है, जिसमें 145 ICU सुविधा से लैस हैं.

एक बयान के मुताबिक NSCI में सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में 650 चिकित्सा बिस्तरों का इंतजाम किया जाएगा. बयान में आगे कहा गया कि रिलायंस फाउंडेशन 100 नए सघन चिकित्सा इकाई (ICU) बेड्स की स्थापना और प्रबंधन करेगा, जिसे 15 मई 2021 से चरणबद्ध ढंग से चालू किया जाएगा. इसके साथ ही सर एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल कोविड रोगियों के लिए लगभग 650 बेड का संचालन और प्रबंधन करेगा.

बयान में कहा गया कि मरीजों के इलाज के लिए चिकित्सकों, नर्सों और गैर-चिकित्सा पेशेवरों के रूप में 500 से अधिक कार्यकर्ता दिनरात सेवा में लगे हुए हैं. इलाज का पूरा खर्च, जिसमें आईसीयू बेड और मॉनिटर, वेंटिलेटर और चिकित्सा उपकरण शामिल हैं, रिलायंस फाउंडेशन द्वारा वहन किया जाएगा.

इसमें आगे कहा गया कि एनएससीआई और सेवन हिल्स अस्पताल में सभी कोविड रोगियों का बिल्कुल मुफ्त इलाज किया जाएगा. रिलायंस फाउंडेशन की संस्थापक और अध्यक्ष नीता अंबानी ने कहा कि कुल मिलाकर फाउंडेशन लगभग 775 बेड का प्रबंधन करेगा, जिसमें 145 आईसीयू बेड शामिल हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘रिलायंस फाउंडेशन हमेशा देश की सेवा में सबसे आगे रहा है और यह हमारा कर्तव्य है कि हम महामारी के खिलाफ भारत की अथक लड़ाई में योगदान करें.’’ उन्होंने कहा कि रिलायंस गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और दमन, दीव और नगर हवेली को 700 टन ऑक्सीजन रोज दे रहा है.

Read more

West Bengal Election: बंगाल में 7वें चरण के दौरान 75% से ज्यादा मतदान, वोट डालने के बाद CM ममता बनर्जी ने दिखाया जीत का निशान

News Byte

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के सातवें चरण में सोमवार को 34 सीटों पर वोटिंग हुई. कोरोना महामारी के बीच वोटिंग के दौरान वोटरों में जबरदस्त उत्साह देखा गया और शाम साढे पांच बजे तक 75.06 फीसदी ने वोट डाले. इस चरण के दौरान 284 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला मतपेटी में बंद हो गया. सातवें चरण के दौरान मुर्शिदाबाद और पश्चिम वर्द्धमान जिलों के 9-9, दक्षिण दिनाजपुर और मालदा जिलों के 6-6 और कोलकाता दक्षिण के 4 सीटों पर वोट डाले गए.

कहां कितनी वोटिंग?
साउथ दिनाजपुर में 80.21 फीसदी वोटिंग हुई, जबकि मालदा में 78.76 फीसदी लोगों ने वोट डाले. मुर्शिदाबाद में 80.30 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया जबकि कोलकाता में 59.91 फीसदी वोट पड़े. तो वहीं, पश्चिम बर्धवान में 70.34 फीसदी ने लोगों ने वोट डालकर लोकतंत्र के पर्व में हिस्सा लिया.

व्हील चेयर से ममता ने किया वोट
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य विधानसभा के लिए हो रहे सातवें चरण के चुनाव के दौरान सोमवार को कोलकाता के भवानीपुर में मतदान किया. बनर्जी का निवास स्थान हरीश चटर्जी मार्ग पर है और उन्होंने अपने मताधिकार का इस्तेमाल दोपहर करीब तीन बजकर 50 मिनट पर मित्रा इंस्टीट्यूशन स्कूल में बने मतदान केंद्र में किया.

वोट के बाद ममता ने दिखाया जीत का निशान
व्हीलचेयर पर मतदान करने आईं ममता बनर्जी मतदान केंद्र से बाहर आने और कार में सवार होने से पहले ‘दीदी-दीदी’ चिल्लाने पर कुछ समय के लिए फोटो पत्रकारों के सामने रुकीं. उन्होंने कैमरे के सामने जीत का निशान दिखाया. बनर्जी दो बार भवानीपुर विधानसभा सीट से विधायक रहीं है लेकिन इस चुनाव में वह पूर्वी मिदिनापुर जिले के नंदीग्राम सीट से भाजपा के शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ लड़ रही हैं.

Read more

IPL 2021 का पहला रोमांचक सुपर ओवर, जानिए कैसे DC ने तोड़ा SRH का दिल

News Byte

चेन्नई: सनराइजर्स हैदराबाद और दिल्ली कैपिटल्स के बीच आईपीएल सीजन 2021 का पहला रोमांचक सुपर ओवर मुकाबला खेला गया. इस रोमांचक मुकाबले में दिल्ली की टीम ने मैच टाई होने के बाद सुपर ओवर में हैदराबाद की जीत का सपना तोड़ दिया.

IPL 2021 DC vs SRH Super Over Match
IPL 2021 DC vs SRH

जाने सुपर ओवर का पूरा हाल
दिल्ली कैपिटल्स ने सुपर ओवर में गेंदबाजी की जिम्मेदारी अक्षर पटेल को सौंपी जो कोविड-19 से उबरने के बाद खेल रहे थे. सनराइजर्स हैदराबाद के लिए कप्तान डेविड वॉर्नर और केन विलियमसन ने सुपर ओवर में बैटिंग करने के लिए उतरे. डेविड वॉर्नर और केन विलियमसन ने सुपर ओवर में मिलकर सात रन बनाए. सुपर ओवर की आखिरी गेंद पर शॉर्ट रन हो गया, वर्ना आठ रन होते.

सनराइजर्स हैदराबाद - 7/0
अक्षर पटेल  की पहली गेंद- डॉट गेंद
अक्षर पटेल  की दूसरी गेंद- 1 रन
अक्षर पटेल  की तीसरी गेंद- 4 रन
अक्षर पटेल  की चौथी गेंद- डॉट गेंद
अक्षर पटेल  की पांचवी गेंद- 1 रन
अक्षर पटेल  की छठी गेंद- 1 रन

अब सनराइजर्स हैदराबाद के लिए सुपर ओवर में राशिद खान गेंदबाजी के लिए उतरे जबकि दिल्ली के लिए ऋषभ पंत और शिखर धवन क्रीज पर थे, जिन्होंने छह गेंद में आठ रन बनाकर टीम को जीत दिलाई.

दिल्ली कैपिटल्स - 8/0
राशिद खान की पहली गेंद- 1 रन
राशिद खान की दूसरी गेंद- 1 रन
राशिद खान की तीसरी गेंद- चौका
राशिद खान की चौथी गेंद- डॉट गेंद
राशिद खान की पांचवी गेंद- 1 रन
राशिद खान की छठी गेंद- 1 रन

Read more

Oscar Awards 2021: नोमाडलैंड बनी बेस्ट फिल्म, "द फादर" के लिए एंथनी हॉकिंस ने जीता बेस्ट एक्टर का ऑस्कर अवॉर्ड

News Byte

93वें अकेडमी अवॉर्ड्स यानी 93वीं ऑस्कर अवॉर्ड्स की घोषणा हो गई है। इस साल ऑस्कर में नोमाडलैंड फिल्म का जलवा दिखा है। इसे बेस्ट फिल्म का अवॉर्ड मिला है। साथ ही इस फिल्म ने बेस्ट एक्ट्रेस और बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड भी अपने नाम किया है। बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड द फादर के लिए एंथनी हॉकिंस को मिला है।

इसके अलावा फिल्म नोमाडलैंड के लिए इस बार लो झाओ ने बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड जीता है। वह ऐसी दूसरी महिला हैं जिन्होंने ऑस्कर में बेस्ट डायरेक्टर का पुरस्कार हासिल किया है। साथ ही लो झाओ यह पुरस्कार जीतने वाली पहली अश्वेत एवं एशियाई महिला हैं। यहां देखें किस फिल्म ने कौन सा अवॉर्ड जीता है...


ऑस्कर अवॉर्ड्स 2021 विजेताओं की पूरी लिस्ट-

बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म: एनदर राउंड

बेस्ट निर्देशक: लो झाओ, फिल्म- नोमाडलैंड

बेस्ट अडेप्टेड स्क्रीनप्ले: द फादर

बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस: यून यू-जंग (Yuh-Jung Youn) को मिनारी के लिए मिला

बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर: डैनियल कलूया को Judas and the Black Messiah के लिए मिला

बेस्ट सिनेमैटोग्राफी: एरिक मेसेर्समीडट को मैंक के लिए मिला

बेस्ट विजुअल इफेक्ट्स: टेनेट

बेस्ट फिल्म एडिटिंग: साउंड ऑफ मेटल के लिए Mikkel E.G को मिला

बेस्ट ओरिजनल सॉन्ग: फाइट फॉर यू (जूदास एंड द ब्लैक मसीहा)

बेस्ट एनिमेटेड फीचर फिल्म: सोल

बेस्ट एनिमेटेड शॉर्ट फिल्म: इफ एनीथिंग हैपेन आई लव यू

बेस्ट लाइव एक्शन शॉर्ट फिल्म: टू डिस्टेंट स्ट्रेंजर्स

बेस्ट साउंड: साउंड ऑफ़ मेटल के लिए जेमी बक्श, निकोलस बेकर, फिलिप ब्लैड, कार्लोस कोर्टेस और मिशेल कॉटनटॉलन

बेस्ट डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट सब्जेक्ट: कोलेट

बेस्ट डॉक्यूमेंट्री फीचर: माई ऑक्टोपस टीचर

Read more

कोरोना हेल्थ : क्या करे अगर कोरोना मरीज का बुखार नहीं उतर रहा है तो, क्या सीटी स्कैन कराना जरूरी है?

News Byte

कोरोना महामरी से देश और दुनिया में लगातार संक्रमण और उसकी वजह से मौत के आंकड़े बढ़ते जा रहे हैं. बीते 24 घंटे में सिर्फ भारत देश में तीन लाख 49 हजार से अधिक संक्रमण के नए मामले सामने आए हैं. यह आंकड़ा लगातार चौथे दिन का है जब भारत में कोरोना वायरस के तीन लाख से भी ज्यादा मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही बीते 24 घंटे में 2700 से भी लोगों की मौत भी हुई है, और अब तक देश में कोरोना की वजह से एक लाख 92 हजार से अधिक लोगों की जान जा चुकी है.

क्या करें अगर कोविड मरीज का बुखार नहीं उतर रहा है तो?
दिल्ली AIMS के वरिष्ठ डॉक्टर अंजन त्रिखा जी कहते हैं की, "पिछले साल जब बुखार आता था तो 4-5 दिन के भीतर बीमारी ठीक होने लगती थी, लेकिन इस बार बीमारी 15-20 दिन तक रह रही है, बुखार 4-5 दिन बाद से आता है और 15-20 दिन तक रहता भी है. इसके लिए पहले तो पैरासिटामोल की गोली समय पर लें. 500 मिलीग्राम की गोली एक दिन में चार ले सकते हैं. इसके बावजूद बुखार रहता है तो हाइड्रोथेरेपी करना है. इसमें पानी की पट्टी माथे पर नहीं रखी जाती बल्कि गर्दन के दोनों तरफ , बांह के नीचे या जांघ के नीचे रख सकते हैं. लेकिन अगर फिर भी कम नहीं हो रहा है तो डॉक्टर की सलाह लेकर दवाई बदल सकते हैं."

सीटी स्कैन कराना कितना जरूरी है?
डॉ. अंजन त्रिखा कहते हैं की, "सीटी स्कैन बीमारी के सातवें या नौवें दिन कराना चाहिए, वो भी तब जब मरीज की स्थिति में सुधार नहीं हो रहा है. सभी को समझना होगा कि सीटी स्कैन देख कर इलाज नहीं होता है, मरीज की कंडीशन देख कर इलाज होता है. अगर संक्रमण हल्का है तो सीटी स्कैन या खून जांच किसी की जरूरत नहीं है. RT-PCR की रिपोर्ट ही पर्याप्त है. लेकिन अगर ब्लड प्रेशर बढ़ गया है, खांसी आ रही है, बुखार नहीं उतर रहा, सांस फूल रही है, तब सीटी स्कैन कराते हैं, ताकि पता चले कि फेफड़े कितना प्रभावित हुए हैं."

स्टीम यानी भाप कोरोना की लड़ाई में कितना मददगार है?
डॉ. अंजन त्रिखा कहते हैं, "कोरोना के समय में ऐसी कई चीजें हैं, जिसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है. लेकिन अक्सर पहले सर्दी-जुकाम में भाप लेने से गले को आराम मिलता है और खांसी में दर्द से राहत मिलती है. कोरोना काल में भी इसे उसी तरह से प्रयोग करना है, लेकिन भाप लेने को इलाज नहीं माने, कई लोग ऐसे आए, जिन्होंने इतने गर्म पानी से भाप ले लिया कि उनके गले में अल्सर बन गया. इसलिए ज्यादा गर्म पानी या कई बार भाप लेने से बचें, कभी-कभी ले सकते हैं."

सोशल मीडिया पर कोरोना को लेकर फैल रहे भ्रमों की जानें क्या है सच्चाई!
वाट्सएप पर ऐसी कई भ्रामक जानकारियां चल रही हैं जिनको पढ़ कर लोग झांसे में आ जा रहे हैं. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ. पीके गुप्ता के अनुसार वाट्सएप, फेसबुक या ट्विटर पर चल रहे ऐसे संदेशों पर ध्यान देने की कतई जरूरत नहीं है.

क्या है भ्रम?

  • 10 सेकंड सांस रोक कर देखें। यदि खांसी नहीं आती है तो आपको संक्रमण नहीं है
  • मांस-मछली या अंडा खाने से कोरोना वायरस फैलता है, इनको न खाएं
  • पुस्तक में लिखी फलां लाइनें बार बार पढ़ने से कोरोना नहीं होता
  • नाक को सलाइन से साफ करने पर कोरोना हो भी तो बाहर आ जाता है

क्या है सच्चाई:-

  • संक्रमण है या नहीं इसका पता सिर्फ जांच से ही चलता है
  • मांस-मछली या अंडा यदि ठीक से पका कर खा रहे हैं तो दिक्कत नहीं
  • 100 डिग्री तापमान पर अच्छे से पकाने पर यदि वायरस हो भी तो मर जाता है
  • अंडे को हाफ फ्राइड न खाएं, पूरी तरह उबाल कर या पका कर ही खाएं
Read more