Skip to main content

विदेश न्यूज़

Latest News

नई Kia Picanto हुई लॉन्च, जानें कीमत और खूबियां

News Byte

ऑटोमोबाइल: पुराने मॉडल के मुकाबले 2020 Kia Picanto की डिजाइन में कई बदलाव हुए हैं और कार का इंटीरियर भी अपग्रेड किया गया है। कुछ इंटरनैशनल मार्केट्स में पिकैंटो को Kia Morning नाम से जाना जाता है।

Kia Motors ने अपनी छोटी कार Kia Picanto का नया मॉडल साउथ कोरियन मार्केट में लॉन्च कर दिया। 2020 Kia Picanto फेसलिफ्ट भारतीय बाजार में उपलब्ध Grand i10 Nios वाले प्लैटफॉर्म पर आधारित है। साउथ कोरिया में नई किआ पिकैंटो की कीमत 1,17,50,000 KRW (साउथ कोरियन करेंसी) यानी करीब 7.25 लाख रुपये है।

नई किआ पिकान्टो
नई किआ पिकैंटो सिर्फ एक पेट्रोल इंजन में उपलब्ध है। इसमें 1.0-लीटर का पेट्रोल इंजन है, जो 4-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स से लैस है। यह इंजन 76PS की पावर और 95Nm टॉर्क जेनरेट करता है। बता दें कि कुछ इंटरनैशनल मार्केट्स में पिकैंटो को Kia Morning नाम से जाना जाता है।
पुराने मॉडल के मुकाबले पिकैंटो फेसलिफ्ट की डिजाइन में कई बदलाव हुए हैं और कार का इंटीरियर भी अपग्रेड किया गया है। नई कार में प्रोजेक्टर हेडलैम्प्स और उसके चारों ओर चार एलईडी डीआरएल के साथ रिवाइज्ड हेडलैम्प सेटअप दिया गया है। इसके अलावा फेसलिफ्ट मॉडल में हल्के बदलाव के साथ किआ की सिग्नेचर टाइगर नोज ग्रिल, अपडेटेड फ्रंट और रियर बंपर, नए डिजाइन के 16-इंच अलॉय वील्ज, नए एलईडी टेललैम्प, क्रोम एग्जॉस्ट टिप और शार्क फिन एंटीना दिए गए हैं। नई पिकैंटो एक नए 'हनीबी' कलर ऑप्शन के साथ आई है।

इंटीरियर
इंटीरियर की बात करें, तो कैबिन में बहुत ज्यादा बदलाव नहीं हुए हैं, लेकिन कुछ नए फीचर्स शामिल किए गए हैं। पिकैंटो फेसलिफ्ट के इंस्ट्रूमेंट कंसोल में नई 4.2-इंच कलर एमआईडी दी गई है। कार में 8-इंच का नया टचस्क्रीन इन्फोटेनमेंट सिस्टम है, जिससे 2 ब्लूटूथ डिवाइस जोड़े जा सकते हैं।

फीचर्स
कार में वॉइस रिकग्निशन, वायरलेस नेविगेशन, वायरलेस फोन चार्जिंग और वेंटिलेटेड फ्रंट सीट्स जैसे फीचर हैं। कार इंटरनेट इनेबल्ड 'कार टू होम' फीचर से लैस है। सेफ्टी के लिए नई पिकैंटो में लेन-कीपिंग असिस्ट सिस्टम, फॉरवर्ड कलिजन अवॉइडेंस असिस्ट और ब्लाइंड स्पॉट डिटेक्शन जैसे फीचर दिए गए हैं।

भारत में अभी लॉन्चिंग की तैयारी नहीं
किआ मोटर्स ने साल 2018 के ऑटो एक्सपो में पिकैंटो के पुराने मॉडल को शोकेस किया था, लेकिन भारत में इसकी लॉन्चिंग को लेकर कोई घोषणा नहीं की है। ऐसे में हाल-फिलहाल नई पिकैंटो के भारत में लॉन्च होने की उम्मीद नहीं है। किआ भारतीय बाजार में अभी सिर्फ एसयूवी और एमपीवी पर फोकस कर रही है। इंडियन मार्केट में कंपनी जल्द नई सब-कॉम्पैक्ट एसयूवी सॉनेट लाने वाली है।

 

Read more

PUBG जल्द ही इंडिया के लिए स्पेशल PUBG Mobile India वर्जन लॉन्च करने की तैयारी कर रही है.

News Byte
इंडिया में पब्जी यूजर्स (PUBG) ये खबर सुनकर काफी खुश हैं कि जल्द ही कंपनी इंडिया के लिए स्पेशल पब्जी इंडिया (PUBG Mobile India) वर्जन लॉन्च करने की तैयारी कर रही है.

कंपनी ने इस वर्जन का डाउनलोड लिंक पिछले हफ्ते वेबसाइट पर पेश किया था. वेबसाइट ने दो डाउनलोड ऑप्शन दिखाए, पहला APK डाउनलोड लिंक (APK Download Link) और दूसरा गूगल प्ले स्टोर (Google Play Store) का नेतृत्व किया. इनमें से किसी भी लिंक ने काम नहीं किया लेकिन इससे ये मैसेज दिया कि गेम देश में वापसी करने के बहुत करीब है. गेमर्स इस गेम के भारतीय संस्करण का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं क्योंकि इस साल की शुरुआत में सरकार ने इसे बैन कर दिया था.


दक्षिण कोरियाई कंपनी क्राफ्टन इंक ( Krafton Inc), PUBG की मूल कंपनी ने भारत के संचालन के लिए चीनी फर्म टेनसेंट गेम्स (Tencent Games for India operations) से नाता तोड़ लिया है. PUBG मोबाइल इंडिया के टीज़र (Teaser) पहले ही आउट हो चुके हैं लेकिन अब कुछ रिपोर्ट्स में कहा गया है कि ट्रेलर जल्द ही आउट हो जाएगा. PUBG मोबाइल इंडिया प्री-रजिस्ट्रेशन (Pre-Registrations) पहले से ही चल रहा है.

PUBG मोबाइल इंडिया के लिए प्री-रजिस्ट्रेशन टैप गेम शेयरिंग कम्युनिटी पर चुनिंदा एंड्रॉयड और iOS यूजर्स के लिए उपलब्ध हैं. लिस्टिंग के मुताबिक, यह गेम अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी में भी उपलब्ध होगा.

PUBG मोबाइल इंडिया का एपीके वर्जन शुक्रवार को कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट पर कुछ घंटों के लिए जारी किया गया था. एपीके संस्करण (APK version) डाउनलोड के लिए उपलब्ध था लेकिन गेमर्स को इसे डाउनलोड करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. कुछ एंड्रॉइड यूजर्स के लिए एपीके संस्करण भी शुक्रवार को जारी किया गया था.

गेम के लॉन्च के लिए PUBG कारपोरेशन ने अभी कोई आधिकारिक जानकारी शेयर नहीं की है. लेकिन, 2020 में ही आने की संभावना है. जब तक गेमिंग कंपनी को केंद्र सरकार से अनुमति नहीं मिलती, तब तक यह गेम भारत में लॉन्च नहीं किया जाएगा. PUBG पर बैन लगाने वाले इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने भारत में PUBG के दोबारा लॉन्च की आधिकारिक अनुमति नहीं दी है.

PUBG मोबाइल इंडिया की योजना (PUBG Mobile India Plan) PUBG मोबाइल इंडिया विशेष रूप से इंडियन मार्के के लिए बनाया जा रहा है. PUBG कॉर्प ने कहा कि भारतीय सब्सिडरी बिज़ने, निर्यात और गेम डेवलपमेंट में विशेषज्ञता रखने वाले 100 से अधिक कर्मचारियों को काम पर रखेगा.

 

Read more

पश्चिम बंगाल जीतने के लिए बीजेपी ने बनाई ये रणनीति, हर सीट पर नज़र रखेगी खास टीम

News Byte

पश्चिम बंगाल: पश्चिम बंगाल में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए बीजेपी खास रणनीति बनाने जा रही है. हर सीट पर पार्टी की नज़र होगी. बीजेपी (BJP) स्थानीय मुद्दों पर टीएमसी (TMC) को घेरने की तैयारी कर रही है.

मिशन बंगाल के लिए बीजेपी ने बनाई खास रणनीति।
यूं तो बंगाल में 2021 में विधानसभा चुनाव होने हैं, लेकिन बीजेपी पूरे जोर-शोर से अभी से चुनाव जीतने की तैयारियों में जुटी है. बीजेपी ने इस बार सूबे में केसरिया झंडा लहराने के लिए मिशन बंगाल तैयार किया है. पार्टी का मानना है कि ममता बनर्जी के 10 साल के शासन को वो इस बार बदल देंगे. पार्टी ने सूबे में 200+ सीटें जीतने की योजना तैयार की है. लोकसभा चुनाव के नतीजों ने साफ कर दिया है कि राज्य में कभी बड़ी ताकत रहे लेफ्ट और कांग्रेस का वजूद अब समाप्त हो गया है और बीजेपी ही मुख्य विपक्षी ताकत बन गई है.


हर सीट के लिए बनेगी विशेष टीम
बीजेपी ने राज्य की सभी 294 सीटों पर विशेष तैयारियां शुरू कर दी हैं. पिछले दिनों बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने राज्य के पार्टी नेताओं के साथ बैठक की, जिसके बाद फैसला लिया गया कि राज्य की हर सीट पर 4 लोगों की एक टीम बनाई जाएगी. जिसमें सांसद, विधायक और स्थानीय संगठन के नेता शामिल होंगे. खास बात ये है कि जिस नेता को जिस सीट की टीम में शामिल किया जाएगा, उसका वहां से कोई लेना-देना नहीं होगा. जैसे अगर कोई नेता हावड़ा सीट पर प्रभाव रखता है, तो उसे दार्जिलिंग की सीट के लिए बनी टीम में रखा जाएगा. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि टीम में शामिल नेता पूरे निष्पक्ष तरीके से अपनी रिपोर्ट तैयार कर सकें. अपनी सीटों की सभी छोटी से छोटी जानकारी इकट्ठा कर एक रिपोर्ट तैयार करना इस टीम की जिम्मेदारी होगी.

राज्य की प्रत्येक सीट को लेकर विशेष तैयारी कर रही है बीजेपी
ममता बनर्जी के अभेद किले को ढहाने के लिए बीजेपी की ये टीमें विजयादशमी से अपना काम शुरू कर देंगी. 15 दिनों तक ये अपने अपने क्षेत्रों में रहकर सीट का प्रोफाइल तैयार करेंगे. जिसमें उस सीट के जातिगत समीकरणों, प्रभावशाली नेताओं की पहचान, वहां बीजेपी की वर्तमान स्थिति, अगर स्थिति कमजोर है तो उसके कारण. इस रिपोर्ट के तैयार होने के बाद नवंबर के पहले हफ्ते में फिर से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के साथ इनकी बैठक होगी.
लोकसभा चुनावों में किया था शानदार प्रदर्शन

2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने राज्य की 40 लोकसभा सीटों में से 18 पर जीत हासिल की थी, जबकि 5 साल पहले हुए विधानसभा चुनाव में उसे सिर्फ 6 सीटों पर ही जीत मिल पाई थी. लोकसभा के शानदार प्रदर्शन के बाद कई इलाकों के स्थानीय टीएमसी नेता भी बीजेपी में शामिल हुए हैं. पार्टी को विश्वास है कि जैसे जैसे विधानसभा चुनाव करीब आएंगे, कई और प्रभावशाली नेता बीजेपी में शामिल होंगे.
लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने राज्य की 40 में से 18 सीटों पर जीत हासिल की थी

अल्पसंख्यक सीटों के लिए विशेष योजना राज्य में करीब 90 सीटें ऐसी हैं, जो अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के प्रभाव वाली हैं. इन सीटों के लिए अलग से कार्य योजना तैयार की जा रही है. ममता बनर्जी के बांग्ला गौरव की धार को कुंद करने के लिए बीजेपी बंगालियों से जुड़े मुद्दों को खड़ा करेगी. रोजगार सृजन के लिए औद्योगिकीकरण और राज्य के लिए एनआरसी को बड़ा मुद्दा बनाया जाएगा, ताकि अवैध रूप से रह रहे बांग्लादेशियों को राज्य से खदेड़ा जा सके.

Read more

कुतुब मीनार के भीतर 27 हिन्दू व जैन मंदिरों को तोड़ कर बनी मस्जिद : हिन्दुओं को मिले पूजा का अधिकार है

News Byte

नई दिल्ली:  दिल्ली की एक अदालत में क़ुतुब मीनार के भीतर मंदिर होने की बात कहते हुए वहाँ हिन्दुओं को पूजा का अधिकार दिलाने हेतु याचिका दाखिल की गई है। याचिका में दावा किया गया है कि क़ुतुब मीनार के भीतर ही हिन्दू और जैन मंदिर परिसर स्थित है। याचिका में कहा गया है कि अंदर 27 मंदिर हुआ करते थे, जिनमें मुख्य रूप से जैन तीर्थंकर ऋषभदेव के अलावा भगवान विष्णु प्रमुख रूप से स्थापित हैं। और इन्हीं मंदिरों को तोड़ कर ही मस्जिद का निर्माण किया गया।


इन दोनों के अलावा भगवान गणेश, शिव, माँ पार्वती, और हनुमान सहित अन्य देवी-देवताओं के कुल 27 मंदिर होने की बात कही गई है। याचिका में माँग की गई है कि इन सभी मंदिरों और प्रतिमाओं को न सिर्फ पुनः स्थापित किया जाए, बल्कि हिन्दुओं को ‘पूजा के अधिकार’ के तहत क़ुतुब मीनार परिसर में नियमित कर्मकांड और पूजा-पाठ की अनुमति दी जाए। ये इलाका दिल्ली के साउथ वेस्ट जिले में स्थित है।

 

याचिका में माँग की गई है कि कोर्ट केंद्र सरकार को ट्रस्ट एक्ट, 1882 के तहत एक ट्रस्ट का गठन करने का निर्देश दे, और उसे क़ुतुब मीनार परिसर में स्थित मंदिरों के प्रबंधन और प्रशासन की जिम्मेदारी सौंपे। साथ ही क़ुतुब मीनार के सामने परिसर में जो लोहे का पिलर स्थित है, उसे भी उन्हीं मंदिरों का एक हिस्सा मानते हुए ट्रस्ट को उसकी भी जिम्मेदारी देने की माँग की गई है। मीनार के भीतर कुव्वतुल इस्लाम मस्जिद है, उसे लेकर ही विवाद है। याचिका में माँग की गई है, “हिन्दुओं को वहाँ पूजा-पाठ, रीति-रिवाज और दर्शन के लिए उचित व्यवस्था देने के लिए कदम उठाए जाएँ। कुतुबुद्दीन ऐबक मोहम्मद गोरी का एक कमांडर था, जिसने ‘श्री विष्णु हरि मंदिर’ को ध्वस्त किया, उसे नुकसान पहुँचाया। उसने मंदिर परिसर में ही अवैध रूप से कई निर्माण शुरू किए।” याचिकाकर्ता का कहना है कि ये मंदिर वहीं, थे जहाँ कुव्वतुल इस्लाम मस्जिद बनाया गया है।


ये याचिका ‘जैन तीर्थंकर ऋषभ देव और भगवान विष्णु’ का प्रतिनिधित्व का दावा करते हुए दायर की गई है। कहा गया है कि मुगल पूरी तरह से इन मंदिरों को ध्वस्त करने में नाकाम रहे और उन्होंने इनके ही अवशेषों से मस्जिद का निर्माण कर दिया। याचिका में लिखा है, “मस्जिद की एक दीवार पर मंगल कलश, नटराज, शखं-गदा-कलश और श्री यंत्र सहित कई देवी-देवताओं की तस्वीरें अभी भी मौजूद हैं।”
साथ ही इस मस्जिद के कॉरिडोर का वैदिक शैली में निर्माण किए होने का दावा किया गया है। याचिका में ASI के ‘संक्षिप्त इतिहास’ में प्रकाशित तथ्यों के आधार पर ही इन 27 मंदिरों के होने का दावा किया गया है। कहा गया है कि मस्जिद के बाहर और भीतर की 9 संरचनाएँ ऐसी हैं, जो मंदिर के हिसाब से है। सरकार ने इसे ‘राष्ट्रीय महत्व का स्मारक’ घोषित कर रखा है। देश भर में करीब 30,000 मंदिरों को ध्वस्त कर उस पर मस्जिद बनाया गया, ऐसा कई विशेषज्ञ कहते हैं।

Read more

कोरोना अपडेट : लगातार 17 वें दिन 40 हजार से कम केस आए, रिकवरी रेट 94% के पार

News Byte

कोरोना अपडेट: देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से कमी आ रही है। मंगलवार को 26 हजार 251 नए केस आए, 33 हजार 853 मरीज ठीक हो गए और 383 की मौत हुई। इस तरह 8 हजार 8 एक्टिव केस कम हो गए। देश में अब तक 99.32 लाख केस आ चुके हैं। इनमें से 94.55 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं। 1.44 लाख की मौत हुई है और 3.30 लाख मरीजों का इलाज चल रहा है।

हर दिन करीब 25-30 हजार केस आ रहे हैं। ऐसे में अगले तीन दिन में कुल संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ के पार हो सकता है। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं।

उत्तराखंड के हेल्थ सेक्रेटरी अमित नेगी बुधवार को कोरोना संक्रमित पाए गए। राज्य में अब तक 83 हजार 5 सौ 2 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें 6 हजार 89 मरीजों का इलाज अभी चल रहा है।

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच महाराष्ट्र सरकार ने बड़ा फैसला किया है। राज्य में अब RT-PCR टेस्ट 700 रुपए में किया जाएगा। इससे पहले इसकी कीमत 980 रुपए थी।

दिल्ली AIIMS में हड़ताल पर गई नर्सिंग यूनियन ने एडमिनिस्ट्रेशन से चर्चा के बाद अपना फैसला वापस ले लिया। इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने हड़ताल पर रोक लगाते हुए नर्साें को काम पर लौटने के लिए कहा था।

हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के फेफड़ों में संक्रमण बढ़ गया है। वे 5 दिसंबर को कोरोना पॉजिटिव आए थे। हालत में सुधार न होने की स्थिति में उन्हें रोहतक PGI से मेदांता शिफ्ट किया गया है।

5 राज्यों का हाल
दिल्ली:
यहां मंगलवार को 1617 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। 2343 लोग ठीक हुए और 41 की मौत हो गई। अब तक यहां 6 लाख 10 हजार 447 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 14 हजार 480 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 5 लाख 85 हजार 852 लोग ठीक हो चुके हैं।

मध्यप्रदेश: यहां पिछले 24 घंटे में 1073 केस आए। 1347 लोग ठीक हो गए और 13 मरीजों की मौत हो गई। यहां अब तक 2 लाख 25 हजार 709 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 2 लाख 9 हजार 768 ठीक हो गए, जबकि 3 हजार 425 की मौत हो गई। अभी 12 हजार 516 का इलाज चल रहा है।

गुजरात: यहां मंगलवार को 1110 लोग संक्रमित पाए गए। 1236 लोग ठीक हुए और 11 की मौत हो गई। अब तक 2 लाख 29 हजार 913 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 12 हजार 781 मरीजों का इलाज चल रहा है। 2 लाख 12 हजार 939 लोग अब तक ठीक हो चुके हैं, जबकि 4193 की मौत हो चुकी है।

राजस्थान: यहां पिछले 24 घंटे में 1045 केस आए। 1722 लोग ठीक हुए और 13 की मौत हो गई। अब तक 2 लाख 93 हजार 584 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 15 हजार 510 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 2 लाख 75 हजार 506 लोग ठीक हो चुके हैं, 2568 की मौत हो चुकी है।

महाराष्ट्र: यहां मंगलवार को 3442 लोग संक्रमित पाए गए। 4395 लोग ठीक हुए और 70 की मौत हो गई। अब तक 18 लाख 86 हजार 807 लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 71 हजार 356 मरीजों का इलाज चल रहा है। 17 लाख 66 हजार 10 मरीज ठीक हो चुके हैं। संक्रमण से जान गंवाने वालों की संख्या अब 48 हजार 339 हो गई है।

 

Read more

तमिलनाडु में सुपरस्टार्स का अलायंस : रजनीकांत से गठबंधन को तैयार कमल हासन

News Byte
तमिलनाडु में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, राजनीति में सक्रिय दो सुपरस्टार कमल हासन और रजनीकांत एक-दूसरे के साथ आने की बात कह चुके हैं.


साउथ के दो सुपरस्टार तमिलनाडु की राजनीति में एक साथ आने को तैयार है. मक्कल नीधि मैयम (MNM) के चीफ कमल हासन ने मंगलवार को रजनीकांत के साथ आने के संकेत दिए. हासन ने कहा- हम बस एक फोन कॉल की दूरी पर हैं; अगर हमारी विचारधारा समान है और इससे लोगों को फायदा होगा, तो हम अपना ईगो एक तरफ रखने को तैयार हैं। हम एक-दूसरे की मदद करेंगे.


तमिलनाडु में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, रजनीकांत से गठबंधन को लेकर मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए हासन ने कहा कि इस बारे में अब रजनीकांत को फैसला करना है. इसके बाद हम दोनों बैठकर इस पर चर्चा कर लेंगे.

इलेक्शन कैंपेन में जुटे हैं कमल हासन
कमल हासन ने पहले भी रजनीकांत के साथ गठबंधन करने के संकेत दिए थे। हासन ने 13 दिसंबर को अपना चुनाव कैंपेन शुरू किया था। 13 से 16 दिसंबर तक चलने वाले चार दिन के कैंपेन में कमल हासन मदुरै, थेनी, डिंडीगुल, विरुधनगर, तिरुनेलवेली, तूतीकोरन और कन्याकुमारी जिलों का दौरा करेंगे। हासन ने फरवरी 2018 में MNM पार्टी की लॉन्चिंग की थी। पार्टी ने 2019 का लोकसभा चुनाव भी लड़ा था, लेकिन उसे किसी सीट पर जीत नहीं मिली थी। पॉलिटिक्स में थलाइवा:रजनीकांत 31 दिसंबर को पार्टी का ऐलान करेंगे, तमिल राजनीति में छठे बड़े फिल्मी सितारे की एंट्री

सालभर पहले रजनी ने हासन से गठबंधन की बात कही थी
इधर, साउथ के दूसरे सुपरस्टार रजनीकांत 31 दिसंबर को अपनी पार्टी का नाम घोषित करने ऐलान कर चुके हैं। एक्टर ने 2021 का विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान भी किया। रजनीकांत ने भी पिछले साल एक्टर कमल हासन के साथ गठबंधन करने की बात कही थी। तब रजनीकांत ने कहा था कि राज्य की जनता के हितों को देखते हुए यदि कमल हासन के साथ गठबंधन करने की स्थिति बनती है, तो वे जरूर एक-दूसरे के साथ आएंगे।

तमिलनाडु की राजनीति में छठे एक्टर हैं रजनीकांत
रजनीकांत पिछले कई महीनों से राजनीति में सक्रिय हैं, लेकिन पहली बार उन्होंने सियासी पारी को लेकर अपने पत्ते खोले थे। पार्टी बनाने और विधानसभा चुनाव में उतरने के ऐलान के बाद तमिलनाडु की राजनीति में एक और एक्टर की एंट्री होगी। इससे पहले वहां फिल्मी कलाकार राजनीति में कामयाबी हासिल करते रहे हैं।

Read more