Skip to main content

Latest News

कोरोना महामारी: दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 47 लाख के पार, अबतक तीन लाख से ज्यादा की मौत

News Byte

कोरोना विश्व: दुनियाभर में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों का वैश्विक आंकड़ा अब 47 लाख के पार हो गया है. वहीं, महामारी की चपेट में आकर मरने वालों की संख्या भी तीन लाख 12 हजार को पार कर गई है. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, दुनियाभर में रविवार सुबह तक कुल 47 लाख 17 हजार 077 लोग कोविड-19 संक्रमण से संक्रमित हुए, जिनमें से मरने वालो की संख्या 3 लाख 12 हजार 384 रही. अच्छी बात यह है कि दुनियाभर में 1,810,099 लोग संक्रमण मुक्त भी हुए हैं.

 

जाने दुनिया में कहां कितने केस, कितनी मौतें

दुनियाभर के कुल मामलों में से करीब एक तिहाई मामले अमेरिका में सामने आए हैं और करीब एक तिहाई मौतें भी अमेरिका में हुई हैं. अमेरिका के बाद यूके में कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है. जहां 34,466 लोगों की मौतों के साथ कुल 240,161 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. जबकि यूके में मरीजों की संख्या स्पेन और रूस से कम है. इसके बाद इटली, फ्रांस, जर्मनी, टर्की, ईरान, चीन, ब्राजील, कनाडा जैसे देश सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं.

अमेरिका:           केस- 1,507,922              मौतें- 89,595

स्पेन:                  केस- 276,505                 मौतें- 27,563

रूस:                  केस- 272,043                 मौतें- 2,537

यूके:                   केस- 240,161                  मौतें- 34,466

इटली:                केस- 224,760                 मौतें- 31,763

ब्राजील:              केस- 233,142                  मौतें- 15,633

फ्रांस:                 केस- 179,365                  मौतें- 27,625

जर्मनी:               केस- 176,247                  मौतें- 8,027

टर्की:                  केस- 148,067                 मौतें- 4,096

ईरान:                 केस- 118,392                  मौतें- 6,937

10 देशों में एक लाख से ज्यादा केस

स्पेन, रूस, इटली, यूके, ब्राजील में कोरोना मामलों की संख्या दो लाख पार हो चुकी है. इनके अलावा चार देश ऐसे हैं जहां एक लाख से ज्यादा कोरोना केस हैं. अमेरिका के अलावा रूस और ब्राजील में भी कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं. पांच देश (अमेरिका, स्पेन, इटली, फ्रांस, ब्रिटेन) ऐसे हैं, जहां 25 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. अमेरिका में मौतों का आंकड़ा 89 हजार पार कर गया है. चीन टॉप-10 संक्रमित देशों की लिस्ट से बाहर हो चुका है.

Read more

लॉकडाउन के बीच राहुल गांधी ने की प्रवासी मजदूरों से मुलाकात, फुटपाथ पर बैठ जाना उनका हाल

News Byte

नई दिल्ली: देशभर में जारी लॉकडाउन की वजह से प्रवासी श्रमिकों को तमाम तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. इस बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को दिल्ली में प्रवासी श्रमिकों से मुलाकात करके उनकी स्थिति के बारे में जानकारी ली. कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक गांधी ने शाम के समय सुखेदव विहार इलाके के फ्लाईआवेर के निकट मजदूरों से मुलाकात की और उनसे करीब एक घंटे तक बातचीत की. सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी की श्रमिकों के साथ बातचीत के दौरान सामाजिक दूरी का खयाल रखा गया था.

राहुल गांधी की मजदूरों से मुलाकात पर कांग्रेस ने ट्वीट किया कि लोगों के दर्द को केवल वहीं नेता समझ सकते हैं जो उनका ध्यान रखते हैं. कांग्रेस ने साथ ही पार्टी के पूर्व अध्यक्ष की मजदूरों से मुलाकात की फोटो को भी साझा किया. एक प्रवासी मजदूर देवेंद्र ने बताया कि राहुल गांधी कुछ देर पहले हमसे मिलने आए थे. उन्होंने घर जाने के लिए हमारे लिए गाड़ी बुक की और कहा कि वे हमें घर तक छोड़ेंगे. उन्होंने हमें खाना, पानी और मास्क भी दिया.

कांग्रेस का दावा है कि राहुल गांधी ने जिन श्रमिकों से मुलाकात की उनको पुलिस ने हिरासत में ले लिया. पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने कहा, ‘‘सरकार को इस बात का डर है कि कहीं प्रवासी श्रमिक अपने घर जाकर लोगों से उसकी सच्चाई न बताएं. हमारा कहना है कि झूठ को जितना दबाया जाएगा वो बाहर आएगा.''

पैकेज पर पुनर्विचार करें पीएम मोदी- राहुल गांधी
राहुल गांधी ने कहा, ‘‘जो पैकेज होना चाहिए था वो कर्ज का पैकेज नहीं होना चाहिए था. इसको लेकर मैं निराश हूं. आज किसानों, मजदूरों और गरीबों के खाते में सीधे पैसे डालने की जरूरत है. आप (सरकार) कर्ज दीजिए, लेकिन भारत माता को अपने बच्चों के साथ साहूकार का काम नहीं करना चाहिए, सीधे उनकी जेब में पैसे देना चाहिए. इस वक्त गरीबों, किसानों और मजदूरों को कर्ज की जरूरत नहीं, पैसे की जरूरत है.’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘ मैं विनती करता हूं कि नरेंद्र मोदी जी को पैकेज पर पुनर्विचार करना चाहिए. किसानों और मजदूरों को सीधे पैसे देने के बारे में सोचिए.’’

Read more

कोरोना कहर: देश में अब तक 85940 मामले, 24 घंटे में 103 मौतें व 3970 नए केस

News Byte

नई दिल्ली: चीन से फैले इस कोरोना वायरस का कहर पूरी दुनिया में दिख रहा है. दुर्भाग्य की बात है कि, भारत में कोरोना के मामलों ने चीन को भी पछाड़ दिया है. आये दिन कोरोना मामले की संख्या दिनभर दिन बढ़ती जा रही है.

देश में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या अब 85940 पार हो गई है, जो चीन से भी अब अधिक हो गई है. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 103 लोगों की मौतें हुई हैं और कुल 3970 नए मामले सामने आए हैं.

शनिवार को जारी केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर करीब 85940 हो गए हैं और कोविड-19 से अब तक 2752  लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोना के कुल 85940 केसों में 53035 एक्टिव केस हैं, वहीं 30153 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है या फिर वह ठीक हो चुके हैं. कोरोना वायरस से अब तक सर्वाधिक 1068 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई, यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 29100 हो गई है.

राज्यों में कोरोना वायरस की स्थिति:
 

महाराष्ट्र:  महाराष्ट्र में कोरोना ने ऐसी तहाबी मचाई है कि, मौत का आंकड़ा यहां हजार से ज्यादा हो गया है. महाराष्ट्र में कोविड-19 के कुल 29100 पॉजिटिव केस मिल चुके हैं, इनमें से 6564 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं या उन्हें छुट्टी दे दी गई है. इस राज्य में अब तक सबसे अधिक 1068 लोगों की जान जा चुकी है.

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार में कमी नहीं आई है, राजधानी में कोरोना वायरस के अब तक 8895 मामले आ चुके हैं. कोविड-19 महामारी से जहां 123 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 3518 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं.

गुजरात: महाराष्ट्र के बाद कोविड-19 ने सबसे ज्यादा गुजरात में तबाही मचाई है, गुजरात में कोरोना के अब तक 9931 मामले सामने आ चुके हैं. गुजरात में कोरोना से 606 लोगों की मौत हो चुकी है और 4035 लोग या तो स्वस्थ हो चुके हैं या फिर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.  

मध्य प्रदेश: मध्य प्रदेश भी कोरोना वायरस का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है. यहां कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 4595 हो गई है, जिनमें से 239 लोगों की मौत भी हो चुकी है. इसके अलावा, 2283 लोग ठीक हो चुके हैं.

तमिलनाडु: तमिलनाडु में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 10 हजार पार कर चुकी है. इस राज्य में अब तक 10108 कोरोना के मामले आ चुके हैं. यहां इस महामारी से 71 की मौत भी हो चुकी है और 2599 पूरी तरह से ठीक भी हो चुके हैं.

आंध्र प्रदेश: आंध्र प्रदेश में कोरोना वायरस के अब तक 2307 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 1252 लोगों का इलाज हो गया है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है. यहां 48 की मौत भी हुई है.

बिहार: बिहार में कोरोना वायरस के संक्रमितों की संख्या हजार पार कर चुकी है. कोरोना वायरस के बिहार में अब तक 1018 मामले दर्ज किए गए हैं. हालांकि, बिहार में कोरोना वायरस से 7 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 438 लोग ठीक हो चुके हैं.

उत्तर प्रदेश: यूपी में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या चार हजार पार कर चुकी है. अब तक यहां 4057 केस आ चुके हैं. हालांकि, इनमें से 2165 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं और 95 लोगों की मौत हो चुकी है.

राजस्थान: राजस्थान में भी कोरोना के मामलो में काफी तेजी देखी जा रही है. यहां कोरोना वायरस के अब तक 4727 मामले सामने आ चुके हैं. 125 लोगों की मौत का मामला सामने आया है, वहीं 2677 लोग ठीक हो चुके हैं.

पश्चिम बंगाल: बंगाल में भी कोरोना कहर बरपा रहा है, यहां कोरोना वायरस के अब तक 2461 संक्रमित मामले सामने आए हैं, जिनमें से 829 की मौत हो चुकी है. इनमें से 225 लोग ठीक भी हो चुके हैं.

Read more

दिल्ली में लॉकडाउन - 4 के दौरान क्या-क्या खुलेगा? CM केजरीवाल ने PM मोदी को भेजे ये सुझाव

News Byte

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने PM मोदी को चिट्ठी लिखकर दिल्ली सरकार के लॉकडाउन-4 के लिए सुझाव भेज दिए हैं. अरविंद केजरीवाल ने कहा, "हम चाहते हैं कि कंटेंटमेंट जोन में कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए. कंटेनमेंट जोन के बाहर कई आर्थिक गतिविधियां शुरू कर दी जाएं. लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क अनिवार्य होने चाहिए. हमें लगता है कि लॉकडाउन में ढील देने से कोरोना के मामलों में थोड़ी बढ़ोतरी होगी. ऐसी स्थिति से निपटने के लिए हमने अस्पतालों, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर, एंबुलेंस, आईसीयू आदि की उचित व्यवस्था कर ली है."

दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार को सुझाव दिया है कि स्कूल कॉलेज और शिक्षण संस्थान बंद रहने चाहिए. हालांकि एक जून से एग्जाम और ऑनलाइन/डिस्टेंस लर्निंग की इजाजत मिलनी चाहिए. होटल और हॉस्पिटैलिटी सेवाओं पर पाबंदी हो. सिनेमा, हॉल , जिम,  स्विमिंग पूल,  एंटरटेनमेंट पार्क,  थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल बंद रहने चाहिए. सभी तरह की सामाजिक, राजनैतिक , स्पोर्ट्स,  एंटरटेनमेंट,  धार्मिक गैदरिंग पर पाबंदी हो. सभी धार्मिक स्थल बंद रहने चाहिए. नाई की दुकान स्पा और सैलून बंद रहने चाहिए.

केजरीवाल ने कहा है कि लोगों की सुरक्षा के लिए गैर जरूरी चीजों के लिए लोगों का मूवमेंट रात 9:00 बजे से लेकर सुबह 5:00 बजे तक बंद रहना चाहिए. सभी जोनों में 65 वर्ष से ऊपर के लोग, गर्भवती महिलाएं, किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोग और 10 साल से कम उम्र के बच्चे घर में रहेंगे.

मेट्रो के लिए भी शर्तें लागू रहेंगी. कुछ श्रेणियों के लोगों के लिए मेट्रो चलाई जाएगी. ऐसे लोग जो भारत सरकार या दिल्ली सरकार या इनसे जुड़े हुए किसी भी संस्थान में काम करते हैं, उनके लिए सुबह 7:30 से 10:30 और शाम को 5:30 से 8:30 बजे तक मेट्रो में चलने की इजाजत होगी. जो लोग जरूरी सेवाओं से जुड़े हुए हैं और डीएम या डीसीपी का दिया हुआ ई-पास उनके पास है, वह सुबह 10:30 बजे से लेकर शाम को 5:30 बजे तक मेट्रो में यात्रा कर सकते हैं.

दिल्ली सरकार एक हफ्ते तक ऐसी व्यवस्था चलाने के बाद इसकी समीक्षा करेगी. दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन को यह सुनिश्चित करना होगा कि एंट्री गेट, प्लेटफॉर्म और कोच में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो. कोच के अंदर एक सीट छोड़कर बैठने की इजाजत होगी. मेट्रो स्टेशन और कोच का नियमित अंतराल पर सैनिटाइजेशन किया जाए. टिकट रहित या स्मार्ट कार्ड आधारित यात्रा की ही इजाजत होगी.

लोगों को कार या टू व्हीलर पर मूवमेंट की इजाजत होगी. कार में अधिकतम 2 यात्री और टू व्हीलर पर केवल चालक की ही इजाजत होगी. निजी दफ्तर खोल सकते हैं लेकिन अपनी 50 % स्टाफ क्षमता के साथ, बाकी स्टाफ वर्क फ्रॉम होम करेगा.

बाजार और दुकान
सभी मार्केट और मार्केट काम्पलेक्स के अंदर दुकान ऑड-ईवन के आधार पर खुल सकेंगी. यानी एक समय में केवल 50 % दुकानें ही खुलेंगी. लेकिन जरूरत के सामान की सभी दुकानें बिना किसी पाबंदी के खुलेंगी, चाहे कहीं भी हों. शॉपिंग मॉल के अंदर दुकानें खोल सकती हैं लेकिन 33% से ज़्यादा दुकानें एक दिन में नहीं खुलेंगी. पास पड़ोस की दुकान या स्टैंडअलोन दुकान बिना किसी रोक-टोक के रोजाना खुल सकती हैं.

कंस्ट्रक्शन एक्टिविटीज की इजाजत होगी लेकिन मजदूर केवल दिल्ली के अंदर से ही आएंगे, बाहर से नहीं. कंटेनमेंट जोन में किसी तरह की गतिविधि की इजाजत नहीं होगी.

काम के स्थानों पर जरूरी शर्तें
1. फेस कवर पहनना अनिवार्य होगा. इन जगहों पर फेस कवर का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध रखना होगा.
2. जिम्मेदार लोग यानी इंचार्ज सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित करेंगे.
3. सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित करने के लिए शिफ्ट के बीच में गैप, लंच ब्रेक के अलग-अलग टाइम आदि किए जाएं.
4. सभी एंट्री और एग्जिट पर थर्मल स्कैनिंग, हाथ धोना और बिना छुए सैनिटाइज करने के सिस्टम के प्रावधान किए जाएं. काम करने वाली जगह पर हाथ धोने का सामान और सैनिटाइजर का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध हो.
5. समय-समय पर सैनिटाइजेशन सुनिश्चित किया जाए.
6. आरोग्य सेतु एप अनिवार्य होगा.
7.  65 साल से ज्यादा के उम्र के लोग, गंभीर बीमारी वाले लोग, गर्भवती महिलाएं या 10 साल से कम उम्र के बच्चे घर पर ही रहेंगे.

Read more

महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 29 हजार के पार

News Byte

मुंबई: देश में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. कोरोना मरीजों का आंकड़ा 81 हजार के पार जा पहुंचा है. जबकि अब तक 26 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. महाराष्ट्र, तमिलनाडु, गुजरात, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश, यूपी, बंगाल, आंध्र प्रदेश, पंजाब, तेलंगाना में कोरोना के ज्यादा केस सामने आए हैं. लेकिन महाराष्ट्र राज्य कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित है. भारत के अलग-अलग राज्यों में कोरोना मरीजों की संख्या में रोज इजाफा हो रहा है.

महाराष्ट्र अब तक कोरोना के 29 हजार से ज्यादा मामलों की पुष्टि हुई है. अकेले मुंबई में 17 हजार 671 मामले हो चुके हैं. महाराष्ट्र में शुक्रवार को बीते 24 घंटे में 1,576 नए केस सामने आए हैं, जबकि 49 लोगों की मौत हुई है. वहीं, मुंबई में शुक्रवार को बीते 24 घंटे में 933 नए केस सामने आए हैं. अकेले मुंबई में 933 नए मामलों की पुष्टि हुई है. मुंबई में कोरोना से अब तक 655 लोगों की मौत हो चुकी है.

महाराष्ट्र के लोगों पर कोरोना कहर बनकर टूट रहा है। राज्य सरकार की तरफ से तमाम प्रयासों के बावजूद कोरोना संक्रमितों के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। गुरुवार को एक दिन में महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के रिकॉर्ड 1602 नए मामले आए हैं और 44 लोगों की मौत हुई है जबकि मुंबई में पिछले 24 घंटों के दौरान 998 नए कोरोना केस रिकॉर्ड किए गए हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना से मरने वाले का आंकड़ा 1 हजार पार
राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के 1602 नए केस आने के बाद राज्य में कुल कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 27,524 हो गई है, जबकि गुरुवार को 44 मौत के बाद महाराष्ट्र में कोरोना से अब तक 1019 लोग अपनी जान गंवा बैठे हैं। महाराष्ट्र में 6059 कोरोना के मरीज ठीक होकर अब तक अपने घर जा चुके हैं तो वहीं 20,441 सक्रिय केस हैं।

 

Read more

उत्तर प्रदेश: यूपी के औरेया में ट्रॉलर पलटने से 24 मजदूरों की मौत, 35 घायल

News Byte

औरैया: उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में शनिवार तड़के सुबह हुए भीषण हादसे में 24 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई. सभी श्रमिक एक ट्रक और ट्राले में सवार थे. दिल्ली-कानपुर हाइवे पर हुए दर्दनाक हादसे में 36 श्रमिक गंभीर रूप से घायल हैं.

औरैया के डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि यह हादसा सुबह तकरीबन साढ़े तीन बजे हुआ, इस हादसे में अब तक 24 लोगों की मौत हुई है. कई लोग घायल हैं, इनमें से ज्यादातर मजदूर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सड़क हादसे की फौरन जांच रिपोर्ट मांगी है, उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश अवस्थी ने बताया कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने औरैया में दुर्भाग्यपूर्ण घटना का तत्काल संज्ञान लिया है. उन्होंने जान गंवाने वाले मजदूरों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है.

मुख्यमंत्री ने सभी घायलों को तुरंत चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराए जाने व कमिश्नर और आईजी (कानपुर) को घटनास्थल का दौरा कर दुर्घटना के कारणों की तुरंत रिपोर्ट देने को कहा है.

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कल ही अधिकारियों को निर्देश दिया था कि किसी भी प्रवासी मजदूर को असुरक्षित तरीके से यात्रा की अनुमति ना दी जाए फिर भी ये हादसा हुआ. आज गाजियाबाद और नोएडा से मजदूरों को उनकी मंजिल तक ले जाने के लिए ट्रेन भी चलने वाली हैं लेकिन इसके बावजूद मजदूरे जान जोखिम में डालकर सफर कर रहे हैं. इसलिए सवाल ये उठ रहे हैं कि इस हादसे की जिम्मेदारी किसकी है.

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने औरैया में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर दुख जताया है. उन्होंने जान गंवाने वाले मजदूरों के परिवारों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त की है. उन्होंने यह भी निर्देश दिया है कि सभी घायलों को तुरंत चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई जाए. कमिश्नर और आईजी कानपुर घटनास्थल का दौरा करें और दुर्घटना के कारणों की रिपोर्ट दें.

Read more