Image description
Image captions

गुजरात से एक बीजेपी विधायक का खुले में थूकने का वीडियो वायरल हो रहा है. बीजेपी विधायक का नाम अरविंद रैयाणी हैं. वह राजकोट पूर्व सीट से विधायक हैं. वीडियो में वो सरकार की ओर से चलाए जा रहे कम्युनिटी किचन यानी जरूरतमंदों के खाने के किचन में खड़े दिखाई देते हैं. उनके आसपास लोग खड़े होते हैं. इसी दौरान वे मास्क हटाकर थूकते नज़र आते हैं.

सोशल मीडिया पर घिरे:

इस दौरान उनके साथ राजकोट बीजेपी प्रमुख कमलेश मिराणी भी मौजूद थे. मामला सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने बीजेपी विधायक अरविंद रैयाणी को घेर लिया. लोगों ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी लोगों से सफाई रखने को कह रहे हैं. वहीं उनकी पार्टी के लोग ही सफाई नहीं रख रहे.

गुजरात के राजकोट से बीजेपी विधायक अरविंद रैयाणी ने उस किचेन में थूक दिया जहां कोरोना लॉकडाउन से परेशान जरूरतमंदों का खाना बन रहा था। सोशल मीडिया पर रैयाणी की इस हरकत की तुलना जमातियों से करते हुए लोग मीडिया पर तंज़ कस रहे हैं। यूजर्स पूछ रहे हैं कि जमातियों पर थूकने का आरोप लगा कर उन्हें निशाना बनाने वाला मीडिया बीजेपी विधायक के थूकने पर ख़ामोश क्यों है।

वीडियो में देखा जा सकता है कि विधायक किस तरह से उस किचेन में थूक रहे हैं जहां जरूरतमंदों के लिए खाना बनता है। ये खाना उन लोगों में बांटा जाता है जिनके पास कोरोना लॉकडाउन के बाद खाने के लिए कुछ नहीं बचा। इस हरकत को लेकर बीजेपी विधायक पर कार्रवाई के रूप में 500 रुपए का जुर्माना लगाया गया है। जिसे विधायक द्वारा भर दिया गया है।

दिलचस्प बात तो ये है विधायक ने इस जुर्माने को खुद जाकर नहीं भरा बल्कि अधिकारी को अपने दफ़्तर बुलाकर जुर्माने की राशि दी। जब इस मामले के बारे में मीडिया ने रैयाणी से सवाल पूछा तो उन्होंने सफ़ाई देते हुए कहा, ‘मैं सब्जी चख रहा था, तभी पत्रकार आ गए और बाइट लेने लगे। इसी कारण मुंह से सब्जी ही थूकी। मुझे पान-मसाला खाने की कोई आदत ही नहीं है। आज ही सीएम रुपाणी ने संदेश दिया है, तो मैं ऐसा कैसे कर सकता हूं?”

बता दें कि अरविंद रैयाणी की छवि इलाक़े के दबंग विधायक के रूप में है। विवादों से उनका पुराना संबंध है। इससे पहले वो विवादों में तब घिरे थे जब पिछले साल एक महिला कमेंटेटर ने उनपर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया था। बाद में इस आरोप को खुद रैयाणी ने कबूल करते हुए महिला से माफ़ी भी मांग ली थी।