Image description
Image captions

मुंबई: महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों को लेकर मुख्य विपक्षी दल भाजपा अब आक्रामक होने जा रही है. महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने एक बयान जारी कर सरकार की विफलता के खिलाफ 22 मई को आंदोलन करने की घोषणा की है.

चंद्रकांत पाटिल के मुताबिक महाराष्ट्र और केरल दोनों राज्यों में कोरोना का पहला मरीज़ एक ही दिन यानी कि 9 मार्च को मिला था. पर आज 70 दिन बाद केरल में कोरोना के मरीजों की संख्या 1000 के करीब है और 12 की मौत हुई है. लेकिन महाराष्ट्र का आंकड़ा 40 हजार के करीब पहुंचने को है. 1200 के करीब लोगों की मौत भी हो चुकी है.

ठाकरे सरकार की इस नाकामी के खिलाफ 22 मई को  बीजेपी ने अपने आंदोलन को 'महाराष्ट्र बचाओ' का नारा दिया है. इसके लिए बीजेपी कार्यकर्ता और नेता अपने घरों और आंगन में काले कपड़े पहनकर, काला मास्क पहनकर और काली पट्टी दिखाकर राज्य सरकार का विरोध करेंगे. इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए दो गज की दूरी बनाकर रखी जाएगी. यह आंदोलन सुबह 11 से 12 बजे एक होगा.