Image description
Image captions

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पूर्वी लद्दाख में ‘चीनी घुसपैठ' के उल्लेख वाली एक रिपोर्ट रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से हटाए जाने को लेकर शनिवार को आरोप लगाया कि यह कोई संयोग नहीं, बल्कि सरकार का लोकतंत्र विरोधी प्रयोग है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘जब जब देश भावुक हुआ, फ़ाइलें ग़ायब हुईं. माल्या हो या राफ़ेल, नीरव मोदी या चौकसी... गुमशुदा लिस्ट में ताजा हैं चीनी अतिक्रमण वाले दस्तावेज़.''

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘ये संयोग नहीं, मोदी सरकार का लोकतंत्र-विरोधी प्रयोग है.'' गौरतलब है कि रक्षा मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर अपलोड उस दस्तावेज को बृहस्पतिवार को हटा लिया जिस पर आधारित एक खबर अखबार में प्रकाशित हुई.

इससे पहले राहुल गांधी ने कहा था कि भूल जाएं कि हम चीन के सामने खड़े हो सकते हैं. प्रधानमंत्री मोदी में इतनी हिम्मत नहीं है कि वो चीन का नाम तक ले पाएं. चीन के अतिक्रमण की बात कबूलने वाले दस्तावेज को रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट से हटाया गया.

खबर के मुताबिक, जून महीने की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी सैनिकों की एकतरफा आक्रामकता से पैदा हुए हालात संवेदनशील बने हुए हैं तथा यह गतिरोध लंबा चल सकता है.

माल्या से जुड़े दस्तावेज गायब

दूसरी तरफ हाल ही में सुप्रीम कोर्ट में वकील ने कहा था कि भगौड़े कारोबारी विजय माल्या की फाइल से जुड़े कुछ दस्तावेज उपलब्ध नहीं है. विजय माल्या के केस से जुड़े अहम दस्तावेज फाइल से गायब होने के कारण सुप्रीम कोर्ट को सुनवाई टालनी पड़ी थी. अब मामले में सुनवाई 20 अगस्त को होगी.