Image description
Image captions

जयपुर: राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार में लंबे समय से चल रहे सियासी संकट का अंत आज हो गया. कांग्रेस को बागी तेवर दिखाने वाले सचिन पायलट के साथ मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि हम इन 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते. विवाद के बाद दोनों नेताओं की आज मुलाकात हुई.

राज्य में दोनों नेताओं के बीच विवाद लंबे समय तक बना रहा और कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व की ओर से हस्तक्षेप के बाद विवाद अब खत्म हो गया है. विवाद खत्म होने के बाद दोनों नेताओं की आज मुलाकात हुई.

इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट की भी मुलाकात हुई. बैठक के दौरान राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ऐलान किया कि विधानसभा में कांग्रेस खुद विश्वास प्रस्ताव पेश करेगी.

पायलट से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, हम विधानसभा में विश्वास मत खुद लाएंगे. हालांकि मुख्यमंत्री की बात में तब नाराजगी भी दिखी जब उन्होंने कहा कि जो बातें हुई सब भुला दें. हम इन 19 विधायकों के बिना भी बहुमत साबित कर देते.

BJP के अविश्वास मत लाने से पहले करेंगे फ्लोर टेस्ट : अशोक गहलोत

राजस्थान में 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र शुरू होने वाला है. राज्य सरकार का कहना है कि इस सत्र में सिर्फ कोरोना वायरस के संकट, लॉकडाउन के बाद की स्थिति और अन्य मुद्दों पर चर्चा होगी. हालांकि बीजेपी ने कहा है कि वो विधानसभा सत्र के पहले ही दिन अविश्वास प्रस्ताव लाएगी.