Skip to main content

खेल कूद


खतरनाक पिच पर टेस्ट मैच खेलने जैसा भयंकर है कोरोना - सौरव गांगुली

News Byte

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली कोविड-19 महामारी के कारण हुए नुकसान से बेहद दुखी और भयभीत हैं. गांगुली ने इस संकट की तुलना खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने से की. इस पूर्व भारतीय कप्तान ने कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन के दिनों की जिंदगी पर बात की.

इस बीमारी के कारण दुनिया भर में अभी 34 लाख लोग संक्रमित हैं, जबकि दो लाख 40 हजार से अधिक लोगों की जान जा चुकी है. गांगुली ने "फीवर नेटवर्क" द्वारा शुरू किए गए "100 आवर्स 100 स्टार्स" कार्यक्रम में कहा, "यह बेहद खतरनाक विकेट पर टेस्ट मैच खेलने जैसी स्थिति है. गेंद सीम भी कर रही है और स्पिन भी ले रही है. बल्लेबाज के पास गलती की बहुत कम गुंजाइश है."

सौरव गांगुली ने कहा, "इसलिए बल्लेबाज को गलती करने से बचते हुए विकेट बचाए रखकर रन बनाने होंगे और यह टेस्ट मैच जीतना होगा." गांगुली ने अपने जमाने में कई दिग्गज तेज गेंदबाजों और स्पिनरों का डटकर सामना किया और उनमें सफल साबित हुए. बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने खेल के मुश्किल पलों और वर्तमान के स्वास्थ्य संकट को एक जैसा बताया.

मौजूदा हालात से दुखी हैं गांगुली:

सौरव गांगुली ने कहा, "यह बेहद मुश्किल स्थिति है, लेकिन उम्मीद है कि हम सभी मिलकर यह मैच जीतने में सफल रहेंगे." गांगुली ने इस महामारी के कारण कई लोगों के जान गंवाने और इससे हुए भारी नुकसान पर दुख व्यक्त किया. उन्होंने कहा, "मैं वर्तमान स्थिति देखकर वास्तव में दुखी हूं क्योंकि इतने अधिक लोग इससे पीड़ित हैं. हम अब भी यह नहीं समझ पा रहे हैं कि इस महामारी को कैसे रोकना है."

गांगुली ने कहा, "विश्व भर के इस माहौल से मैं वास्तव में परेशान हूं. हम नहीं जानते कि यह बीमारी कब और कहां से आई. हम सभी इसके लिए तैयार नहीं थे." गांगुली केवल परेशान ही नहीं है बल्कि उन्होंने स्वीकार किया कि उन्हें खुद भी इस बीमारी के कारण डर लगता है.

गांगुली ने कहा, "लोग इससे इतने अधिक प्रभावित हैं. कई लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. ऐसी स्थिति मुझे बहुत परेशान कर देती है और मुझे भी डर लगता है." गांगुली ने कहा, "लोग किराने का सामान, खाना आदि पहुंचाने के लिए मेरे घर पर भी आते हैं, इसलिए मुझे भी थोड़ा डर लगता है. यह मिश्रित भावनाएं हैं. मैं जितना जल्दी हो सके, इस बीमारी का खात्मा चाहता हूं."

Read more

मुझे नहीं लगता एमएस धोनी टीम इंडिया में वापसी करना चाहते हैं - हरभजन सिंह

News Byte

कोरोना वायरस की वजह से सभी खेल गतिविधियां फिलहाल बंद हैं, इस समय खिलाड़ी अपने परिवार संग समय बिता रहे हैं साथ ही सोशल मीडिया के जरिए अपने फैन्स से भी जुड़े हुए हैं. इस बीच ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह और रोहित शर्मा ने गुरुवार को इंस्टाग्राम पर बातचीत की, इस दौरान हरभजन सिंह ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि जितना वो धोनी को जानते हैं, अब शायद वो कभी भारत के लिए नहीं खेलेंगे और उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच वर्ल्ड कप में खेल लिया है.

 

धोनी के फ्यूचर को लेकर पहली बार रोहित शर्मा ने दिया बयान, हरभजन सिंह ने भी रखी अपनी बात

रोहित शर्मा से बात करते हुए हरभजन सिंह ने कहा कि, "मैं जब चेन्नई गया था, तो मुझसे कई लोगों ने पूछा था कि धोनी क्या करने वाले हैं, मुझे ऐसा लगता है कि धोनी आईपीएल में तो खेलेंगे, लेकिन टीम इंडिया के लिए नहीं. धोनी ने मन बना लिया है कि वो अब ब्लू जर्सी नहीं पहनेंगे. मुझे नहीं लगता कि वो टीम इंडिया में वापसी करना चाहते हैं. वर्ल्ड कप से पहले ही मुझे लगता है कि धोनी फैसला कर चुके थे कि सेमीफाइनल या फाइनल जो भी मैच होगा वो उनका आखिरी इंटरनेशनल मैच होगा." उनकी इस बात पर रोहित ने कहा, "धोनी को लेकर हमारे पास कोई न्यूज नहीं है, हमने अभी तक इस बारे में कुछ नहीं सुना है."

NewsByte Sport News

धोनी-रोहित में से आशीष नेहरा ने इस खिलाड़ी को बताया IPL का महान कप्तान

बता दें धोनी आईपीएल 2020 से मैदान पर वापसी करने वाले थे और उन्होंने चेन्नई में ट्रेनिंग भी शुरू कर दी थी. इस बीच कोरोना वायरस फैल गया और उसके बाद आईपीएल को ही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करना पड़ा. धोनी ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच विश्व कप 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था. इस मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा था और टीम का सफर निराशाजनक रूप से समाप्त हो गया था.

Read more

धोनी के लिए ब्रावो ने गाया नया गाना, CSK ने शेयर की इसकी झलक

News Byte

वेस्टइंडीज के तूफान ऑलराउंडर खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो ने अपने नए गाने की एक झलक फैन्स के साथ शेयर की है। यह गाना ब्रावो ने चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के लिए खास बनाया गया है।

ब्रावो के इस गाने को सीएसके ने अपने ऑफिशियल सोशल मीडिया ट्विटर अकाउंट्स से गाने के वीडियो का एक टीजर शेयर किया है। ब्रावो इससे पहले भी कई गाने बना चुके हैं। उनका गाना 'चैंपियन' तो पूरी दुनिया में फेमस में हुआ था। अपने म्यूजिक के लिए ड्वेन ब्रावो को डीजे ब्रावो के नाम से भी जाना जाता है।


इस वीडियो को शेयर करते हुए ड्वेन ब्रावो ने कहा, ''ये मेरे नए गाने का सैंपल है, जिसे में तैयार कर रहा हूं। यह गाना मेरे भाई महेंद्र सिंह धोनी के ऊपर है।'' धोनी और ब्रावो पिछले काफी वक्त से आईपीएल में एक साथ खेल रहे हैं। दोनों चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा है। जहां धोनी शुरुआत यानी 2008 से सीएसके टीम से जुड़े हुए हैं तो वहीं ब्रावो 2011 से चेन्नई सुपरकिंग्स का हिस्सा हैं। धोनी अपने खेल के लिए महेंद्र सिंह धोनी को क्रेडिट देते हुए, जिन्होंने उन्हें उनके स्टाइल में खेलने की छूट दी है।


ड्वेन ब्रावो ने चेन्नई सुपर किंग्स के लिए 104 मैच खेले हैं। इनमें उन्होंने 121 विकेट हासिल किए हैं। इस ऑलराउंडर ने अपनी परफॉर्मेंस के दम पर वह दो बार पर्पल कैप (आईपीएल में सबसे ज्यादा विकेट भी जीती है। ब्रावो ने 2013 और 2015 में पर्पल कैप पर अपना कब्जा जमाया था।

Read more

Corona Virus: शोएब अख्तर ने कहा- पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेले भारत, कपिल देव ने लताड़ा

News Byte

भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव ने शोएब अख्तर के उस प्रस्ताव को सिरे से खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने COVID-19 महामारी के मद्देनजर धन जुटाने के लिए टीवी पर भारत और पाकिस्तान के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलने की बात कही थी.

कपिल देव ने कहा कि धन की आवश्यकता नहीं है, और क्रिकेट मैच के लिए जान को जोखिम में डालना कहां की समझदारी है..?

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) ने भारत-पाकिस्तान (India vs Pakistan ODI Series) के बीच 3 वनडे मैचों के खेले जाने का प्रस्ताव रखा है. अख्तर ने कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ लड़ाई में फंड जुटाने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच वनडे सीरीज को कराए जाने की बात कही है. पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि ऐसा होने से जो भी फंड रेज किए जाएंगे उससे दोनों देशों में कोरोनावायरस से प्रभावित लोगों की मदद की जा सके. गौरतलब है कि भारत-पाकिस्तान (India vs Pakistan ) के बीच आखिरी वनडे सीरीज साल 2012-13 में हुई थी. रावलपिंडी एक्सप्रेस के नाम से प्रख्यात हुए अख्तर ने कहा कि इस मुश्किल समय में दोनों देश अपने लोगों की मदद के लिए आगे आए और वनडे सीरीज खेलकर फंड रेज करें. अख्तर ने आगे अपने बयान में कहा कि दोनों देशों में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में ये मैच बाद में कराए जाने की जरूरत है.

बुधवार को शोएब अख्तर ने खतरनाक वायरस से लड़ाई में संयुक्त रूप से धन जुटाने के लिए बंद दरवाजे की वनडे सीरीज का प्रस्ताव रखा था.

News Byteशोएब अख्तर ने कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में फंड जुटाने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच वनडे सीरीज को कराए जाने की बात कही है.
NewsByte: शोएब अख्तर ने कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में फंड जुटाने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच वनडे सीरीज को कराए.

शोएब का मानना है स्थिति ठीक होने के तुरंत बाद मैचों को कराए जाने की जरुरत है जिससे फंड जुटाकर वायरस से प्रभावित लोगों की मदद कर सकें. वैसे, दोनों टीम आईसीसी के टूर्नामेंट में एक दूसरे के खिलाफ आमने-सामने रही है. आखिरी बार साल 2019 वर्ल्डकप में भारत और पाकिस्तान का मुकाबला हुआ था जिसमें भारतीय टीम को जीत मिली थी. वर्ल्डकप में भारत की टीम पाकिस्तान से एक भी मैच नहीं हारी है. 

कपिल देव ने कहा कि इस प्रस्ताव को अमल में लाना संभव नहीं है. कपिल देव ने पीटीआई से कहा, 'वह अपनी राय रखने के हकदार हैं, लेकिन हमें पैसे जुटाने की आवश्यकता नहीं है. हमारे पास पर्याप्त है.'

कपिल देव ने कहा, 'खैर, BCCI ने बड़ी राशि (51 करोड़ रुपये) मदद में दी है और अगर जरूरत पड़ती है तो वह और पैसे देने में सक्षम है.' विश्व कप विजेता पूर्व कप्तान ने कहा, 'अगले 6 महीने तक क्रिकेट होनी ही नहीं चाहिए. इसमें काफी खतरा है.'

61 साल के कपिल ने कहा, 'इन दिनों सभी का ध्यान लोगों की जिंदगी बचाने पर होना चाहिए. जब चीजें सामान्य हो जाएंगी तो क्रिकेट फिर से शुरू हो जाएगा. खेल देश से बड़ा नहीं हो सकता.'

 

Read more

Corona Virus: टोक्यो ओलिंपिक 1 साल टला - 124 साल के इतिहास में यह गेम्स 3 बार रद्द हुए

News Byte

कोरोना वायरस के कारण टोक्यो ओलिंपिक को 1 साल के लिए टाल दिया गया। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक संघ के अध्यक्ष थॉमस बाक के साथ मंगलवार को हुई बातचीत के बाद यह जानकारी दी।

अब यह खेल 2021 की गर्मियों में होंगे। तारीख बाद में तय की जाएंगी। यह पहला मौका नहीं है, जब टोक्यो में होने वाले ओलिंपिक को टाला गया। 1940 में इस शहर को पहली बार इन खेलों की मेजबानी मिली थी। लेकिन, चीन से युद्ध की वजह से यह गेम्स रद्द हो गए। ओलिंपिक के 124 साल के इतिहास में ओलिंपिक 3 बार रद्द हुए हैं और पहली बार टले हैं। पहले विश्व युद्ध के चलते बर्लिन (1916), टोक्यो (1940) और लंदन (1944) गेम्स को कैंसिल करना पड़ा था। टोक्यो ओलिंपिक 24 जुलाई से 9 अगस्त के बीच होने थे।

आबे और आईओसी पिछले कुछ महीने से लगातार कह रहे थे कि गेम्स तय शेड्यूल के मुताबिक 24 जुलाई से शुरू होंगे। लेकिन कोविड-19 के बढ़ते खतरे के साथ आईओसी पर इन खेलों को स्थगित करने का दबाव बढ़ने लगा था। कनाडा और ऑस्ट्रेलिया पहले ही ओलिंपिक में हिस्सेदारी से इनकार कर चुके थे।

अमेरिका के 70 फीसदी से ज्यादा खिलाड़ी ओलिंपिक टालने के पक्ष में थे। अमेरिकी अखबार यूएसए टुडे ने 300 अमेरिकी खिलाड़ियों से ओलिंपिक के आयोजन पर सवाल पूछे थे। 70 फीसदी खिलाड़ियों ने कहा था कि गेम्स स्थगित होने चाहिए। 23 फीसदी ने कहा था कि यह उस समय के हालात पर निर्भर करेगा कि गेम्स होने चाहिए या नहीं। जब उन खिलाड़ियों से पूछा गया कि टोक्यो ओलिंपिक तय समय पर होना चाहिए तो 41 फीसदी ने कहा था कि यह सही आइडिया नहीं है।

टोक्यो ओलिंपिक 2020 की मेजबानी जापान के पास है। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, वह तैयारियों पर अब तक 12.6 अरब डॉलर खर्च कर चुका है। कुल अनुमानित खर्च इसका दो गुना यानी करीब 25 अरब डॉलर है।

Read more