Image description
Image captions

कोरोना के कहर से पूरी दुनिया तबाह है. देशभर में अबतक 5 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं. वहीं डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं उत्तर प्रदेश में अबतक 410 केस सामने आ चुके हैं. जिसमें आधे से ज्यादा जमातियों की देन है. 220 तबलीगी जमाती के लोग हैं. वहीं अबतक 4 लोगों की मौत हो चुकी है. देश भर में लॉकडाउन लगा हुआ है. यूपी के 15 जिलों में 104 इलाके को हॉटस्पॉट चिन्हित कर सील कर दिया है. लेकिन इस दौरान कई और अपराध बढ़ गए हैं. जिसके चलते लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

उत्तर प्रदेश के कन्नौज (Kannauj) में लॉक डाउन (Lockdown) के दौरान गरीबों में राशन ठीक तरह से वितरित न करने के आरोप में बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक (BJP MP Subrat Pathak) और उनके समर्थकों पर तहसीलदार (Tehsildar) को उनके सरकारी घर में घुसकर पीटने का आरोप लगा है. मामले में सांसद सुब्रत पाठक समेत 25 लोगों पर केस दर्ज किया गया है. उधर मामले में प्रदेश की सियासत गर्म हो गई है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने घटना को अति शर्मनाक बताया है और मांग की है कि मुख्यमंत्री को चाहिये कि वे इस मामले में जरूर सख्त कदम उठायें ताकि यह सांसद आगे कभी भी ऐसी हरकत न कर सके.

कन्नौज से बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक
कन्नौज से बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक (News Byte)

तहसीलदार का आरोप

कन्नौज सदर तहसीलदार अरविंद कुमार का कहना है कि सांसद सुब्रत पाठक की ओर से राशन वितरण के लिए लिस्ट भेजी गई थी, उनकी शिकायत थी लिस्ट के मुताबिक वितरण नहीं हो रहा है. अरविंद कुमार ने कहा कि सांसद सुब्रत पाठक ने जो लिस्ट भेजी थी उसके मुताबिक नायब तहसीलदार राशन बांट रहे थे.

कन्नौज से भाजपा के सांसद सुब्रत पाठक ने तहसीलदार को घर में घुसकर पीटा।

अरविंद कुमार ने आरोप लगाया कि सांसद महोदय ने फोन पर उन्हें गालियां दीं. तहसीलदार का आरोप है कि उन्होंने फोन पर ही दफ्तर में आकर मारने की धमकी दी. तहसीलदार के मुताबिक इस घटना की शिकायत उन्होंने डीएम से भी की, इसके बाद वे अपने घर चले गए. तहसीलदार ने कहा कि थोड़ी ही देर में सांसद 20-25 लोगों के साथ उनके घर पर आ गए और दरवाजा पीटने लगे. इतने लोगों को देखकर मेरी पत्नी और बच्ची रोने लगी.

तहसीलदार ने पूरे घटनाक्रम का ब्यौरा दिया, "सांसद जी ने कहा कि तुमने सूची के मुताबिक वितरण क्यों नहीं किया...मैंने कहा कि सर वितरण कर रहा हूं, नायब साहब वितरित करा रहे हैं...मेरा मोबाइल छीन लिए और सांसद जी मुझे थप्पड़ से पीटने लगे...उनके साथ 20-25 लोग थे वे भी मुझे गिरा-गिरा कर मारने लगे..."

सांसद का दुर्व्यवहार अति शर्मनाक

मायावती ने कहा कि कन्नौज में ईमानदारी से ड्यूटी कर रहे एक दलित तहसीलदार की बीजेपी सांसद ने पिटाई कर दी. उसका यह दुर्व्यवहार अति शर्मनाक है. साथ ही उन्होंने लिखा कि दुःख की बात यह है कि यह सांसद अभी भी जेल में जाने की बजाय बाहर ही घूम रहा है. जिससे पूरे प्रदेश में दलित कर्मचारियों में जबर्दस्त रोष व्याप्त है. ऐसे में मुख्यमंत्री को चाहिए कि वे इस मामले में जरूर सख्त कदम उठाएं. ताकि यह सांसद आगे कभी भी ऐसी हरकत ना कर सके.

समाजवादी पार्टी ने की कार्रवाई की मांग

समाजवादी पार्टी ने इस घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है और ट्वीट किया है. समाजवादी पार्टी ने अपने ट्वविटर हैंडल पर लिखा, " कानपुर के बाद कन्नौज में BJP MP ने घर पर खाने के पैकेट ना भिजवाने पर तहसीलदार के घर में घुस कर की पिटाई घोर निंदनीय. पीड़ित तहसीलदार से संवेदना! अपने दिए गए बयान पर अमल करते हुए आरोपी एमपी सुब्रत पाठक पर NSA लगाएं सीएम."